तीसरी लहर के खतरे के बीच राहत भरी खबर, इन राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 100% एडल्‍ट को लगी कोरोना वैक्‍सीन की पहली डोज

पुनः संशोधित रविवार, 12 सितम्बर 2021 (21:40 IST)
नई दिल्ली। की तीसरी लहर के खौफ के बीच वैक्सीनेशन का भी युद्ध स्तर पर चलाया जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी कि सिक्किम, दादरा एवं नगर हवेली, हिमाचल प्रदेश, गोवा, लद्दाख और लक्षद्वीप में सभी वयस्कों को रोधी टीकों की कम से कम एक खुराक दी जा चुकी है और देश में रविवार तक लोगों को दी गई खुराकों की संख्या 74 करोड़ से अधिक हो गई।

को-विन पोर्टल से मिले आंकड़े के अनुसार रविवार को रात 8 बजे तक टीकों की करीब 50,25,159 खुराक दी गईं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया के कार्यालय ने ट्वीट किया- 100 प्रतिशत वयस्क आबादी को कोविड-19 रोधी टीके की पहली खुराक देने के लिए इन सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को बधाई। इन क्षेत्रों के स्वास्थ्यकर्मियों की लगन और प्रतिबद्धता विशेष रूप से सराहनीय है।
इस ट्वीट के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के कार्यालय ने एक चार्ट भी शेयर किया जिसमें दादरा एवं नगर हवेली, दमन एवं दीव (6.26 लाख खुराक), गोवा (11.83 लाख खुराक) लद्दाख (1.97 लाख खुराक) और सिक्किम (5.10 लाख खुराक) सहित विभिन्न राज्यों का जिक्र है। इन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 100 प्रतिशत योग्य आबादी को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है।
16 जनवरी को शुरू हुआ था अभियान : देशव्यापी अभियान 16 जनवरी को शुरू किया गया था। इसमें पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण हुआ था। अग्रिम मोर्चा के कर्मियों का टीकाकरण 2 फरवरी से शुरू हुआ था। कोविड-19 टीकाकरण अभियान का अगला चरण 1 मार्च से शुरू हुआ, जिसमें 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और गंभीर रोग से ग्रस्त 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों के लिए टीकाकरण शुरू हुआ।
देश ने 1 अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए टीकाकरण शुरू किया। सरकार ने इसके बाद 1 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को टीकाकरण की अनुमति देकर अपने टीकाकरण अभियान का विस्तार करने का निर्णय लिया। मंत्रालय ने कहा कि देश में सबसे संवेदनशील आबादी वाले समूहों को कोविड-19 से बचाने के लिए टीकाकरण अभियान की नियमित रूप से समीक्षा की जाती है और उच्चतम स्तर पर निगरानी की जाती है।



और भी पढ़ें :