मुंबई और पुणे लॉकडाउन, रेलवे स्टेशनों पर उमड़ी भीड़, लोग परेशान

पुनः संशोधित शनिवार, 21 मार्च 2020 (15:03 IST)
मुंबई। कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार बड़े कदम उठा रही है। मुंबई, पुणे समेत 4 शहरों में कर दिया गया है। राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 11 नए मामले आने के साथ 63 हो गई है। हजारों लोग अपने राज्यों में लौट रहे हैं। भारी भीड़ की वजह से रेलवे स्टेशनों पर लोगों को भारी परेशानियों का भी सामना करना पड़ा।

इस बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में बड़ी वृद्धि हुई है और उन्होंने लोगों से इस विषाणु को फैलने से रोकने के लिए सार्वजनिक यातायात का इस्तेमाल करने से बचने की अपील की है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बाहर से आए लोगों के कारण यह ज्यादा फैला। मैं लोगों से घरों से बाहर न निकलने की अपील करता हूं। उन्हें सामाजिक दूरी बनाकर और साफ सफाई रखकर आत्म अनुशासन बरतना चाहिए।
उन्होंने यह भी कहा कि अपने गृह राज्य लौटने के लिए रेलवे स्टेशनों पर कामकाजी वर्ग की भीड़ भी चिंता की बात है। हमने दूर जाने वाली ट्रेनों की संख्या बढ़ाने के लिए कहा है ताकि जो अपने-अपने स्थानों पर वापस जाना चाहते हैं वे जा सके। इससे मेट्रोपोलिटन क्षेत्र (एमएमआर) और पुणे में रेलवे स्टेशनों पर भीड़ कम होगी।
टोपे ने कहा कि सरकार सभी कार्यालयों और दुकानों को बंद रखने के बाद लोकल ट्रेनों में भीड़ पर करीबी नजर रख रही है।

उन्होंने कहा कि अगर सार्वजनिक वाहनों में भीड़ कम नहीं हुई तो उन्हें बंद किया जाएगा। आई-कार्ड की जांच करने के बाद सार्वजनिक वाहनों में लोगों को यात्रा करने देने की अनुमति देना भी एक विकल्प है। उन्होंने बताया कि मुंबई में उपनगरीय ट्रेन आवश्यक गतिविधियों के लिए चलेंगी।



और भी पढ़ें :