भारत बायोटेक कोवैक्सीन की 16 लाख डोज मुफ्त देगी, सरकार ने कहा- 4 और वैक्सीन पर हो रहा है काम

Last Updated: मंगलवार, 12 जनवरी 2021 (21:34 IST)
नई दिल्ली। केंद्र ने कहा कि मंगलवार दोपहर तक निर्धारित राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय भंडारण केंद्र तक कोविड-19 टीके की 54.72 लाख खुराक पहुंचा दी गई है तथा 14 जनवरी तक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से 1.1 करोड़ और से 55 लाख खुराक मिल जाएगी। कोरोनावायरस के खिलाफ निर्णायक लड़ाई के तहत 16 जनवरी से शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान से 4 दिन पहले मंगलवार सुबह 'कोविशील्ड' टीकों की खुराक पुणे से देश के 13 शहरों में भेजने की शुरुआत की गई।
ALSO READ:
Corona Vaccine कोविशील्ड और को मंजूरी मिलने के बाद वैक्सीनेशन से जुड़े आपके 10 सवाल
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया
से कोविशील्ड की 1.1 करोड़ खुराक के अलावा भारत बायोटेक से कोवैक्सीन की 55 लाख खुराक
खरीदी जा रही है। उन्होंने कहा कि भारत बायोटेक से कोवैक्सीन की 55 लाख खुराक खरीदी जा रही है। कोवैक्सीन की 38.5 लाख खुराक में से
प्रत्येक
पर 295 रुपए (कर को छोड़कर) की लागत आएगी।
भारत बायोटेक 16.5 लाख खुराक मुफ्‍त मुहैया करा रही है, जिससे इसकी लागत प्रत्एक खुराक पर 206 रुपए
आएगी। भूषण ने कहा कि चेन्नई, करनाल, कोलकाता और मुंबई में केंद्र सरकार के 4 मेडिकल स्टोर डिपो हैं, जहां पर ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके कोविशील्ड की खुराक पहुंच चुकी है।

4 वैक्सीन पर हो रहा है काम : देश में वैक्सीनेशन की तैयारियों को लेकर मंगलवार को केंद्र सरकार ने साप्ताहिक रिपोर्ट पेश की। इसमें बताया कि देश में कोवीशील्ड और कोवैक्सिन के अलावा 4 और वैक्सीन पर तेजी से काम हो रहा है। सभी अलग-अलग ट्रायल स्टेज में हैं। इनमें जायडस कैडिला की वैक्सीन और रूस की वैक्सीन स्पूतनिक-V तीसरे फेज के ट्रायल में है। इसके अलावा बायोलॉजिकल-E और पुणे की जेनोवा कंपनी ने पहले फेज का ट्रायल शुरू किया है। (इनपुट भाषा)



और भी पढ़ें :