हरियाणा : 14 जून तक बढ़ा प्रतिबंध, ऑड-ईवन तर्ज पर खुलेंगी दुकानें

Last Updated: रविवार, 6 जून 2021 (21:12 IST)
कोरोना की दूसरी लहर के कारण हरियाणा में भी की घोषणा की गई थी। इस दौरान कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए थे। हालांकि अब नए मामलों में कमी देखने को मिली है।
रिकवरी रेट में भी सुधार हुआ है। साथ ही अभियान भी चलाए जा रहे हैं। इसके बावजूद सरकार ने एहतियात बरतते हुए 14 जून तक के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया है।

सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों में प्रतिबंधों में ढील दी गई है। दुकान, मॉल, रेस्टोरेंट, बार और धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत दी गई है, लेकिन उन्हें इस दौरान कई तरह के नियम और शर्तों का पालन करना पड़ेगा।

मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने नई गाइडलाइन जारी करते कहा कि राज्‍य के बाजार ऑड-ईवन की तर्ज पर सुबह 9 से शाम 6 बजे तक खुलेंगे। इससे पहले पिछले हफ्ते 7 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने के साथ ऑड-ईवन आधार पर दुकानों को सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक खुलने की अनुमति दी गई थी।

महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा : राज्य सरकार ने लॉकडाउन को ‘महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा’ नाम दिया है। मुख्य सचिव विजय वर्धन की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया कि राज्य में कोविड-19 के नए मामलों में कमी हुई है और संक्रमण दर भी घटी है लेकिन काफी विचार-विमर्श करने के बाद यह निर्णय लिया गया कि महामारी के प्रसार को रोकने के लिए बचाव और एहतियाती कदम जारी रहेंगे।

सरकार ने ‘महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा’ को सात जून (सुबह पांच बजे) से बढ़ाकर 14 जून (सुबह पांच बजे) करने का निर्णय लिया है, धार्मिक स्थान भी अब एक समय पर 21 लोगों के साथ खुल सकते हैं। कॉर्पोरेट कार्यालयों को भी सामाजिक दूरी नियमों का पालन करते हुए 50 फीसदी कर्मियों के साथ खोलने की इजाजत दी गई है। किसी भी शादी और अंतिम संस्कार में अब 21 लोग शामिल हो सकते हैं। हालांकि शादी में ‘बारात’ निकालने की इजाजत नहीं है।

ब्लैक फंगस का विकराल रूप : कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि पहले कोरोना और अब ब्लैक फंगस ने प्रदेश में विकराल रूप ले लिया है, लेकिन राज्य सरकार के पास इसका कोई हल नहीं है। सुरजेवाला ने दावा किया कि रोहतक स्थित पीजीआई में दवाई नहीं बची है। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस की दवाई ब्लैक में तो जरूर मिलती है, पर सरकार के पास नहीं है। उन्होंने कहा कि गांवों-कस्बों में कोरोना का कहर जारी है और सरकार आंकड़े छुपा रही है।
जिले के नरवाना स्थित अपने निवास पर पत्रकारों से बातचीत में सुरजेवाला ने रविवार को कहा कि टीका लगाने के नाम पर तो हरियाणा सरकार लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ ही कर रही है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री ने स्वयं माना है कि सरकार धीरे-धीरे टीका लगा रही है, ताकि यह खत्म ना हो।

कांग्रेस नेता ने दावा किया कि प्रदेश भर में जीवन रक्षक दवाएं तो नहीं हैं, पर शराब माफिया खुला खेल खेलकर फुल कमाई कर रहा है। उन्होंने पूछा कि क्या मुख्यमंत्री मनोहर लाल व डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला इन सारे सवालों का जवाब देंगे।



और भी पढ़ें :