GDP में गिरावट : कोरोना की दूसरी लहर से अर्थव्यवस्था धड़ाम

Last Updated: सोमवार, 31 मई 2021 (20:14 IST)
नई दिल्ली। की दूसरी लहर ने देश में कोहराम मचा दिया। हालांकि अब इसकी रफ्तार में थोड़ी कमी आई है। कोरोना को कंट्रोल करने के लिए लगाए गए लॉकडाउन का असर देश की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ा है। जीडीपी में गिरावट दर्ज की गई है।
सरकार द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक भारत की अर्थव्यवस्था 2020-21 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) के दौरान 1.6 प्रतिशत की दर से बढ़ी, जबकि पूरे वित्त वर्ष के दौरान जीडीपी में 7.3 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली।

हालांकि, जनवरी-मार्च 2021 के दौरान वृद्धि दर इससे पिछली तिमाही अक्टूबर-दिसंबर 2020 के 0.5 प्रतिशत वृद्धि के मुकाबले बेहतर थी। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार 2019-20 में जनवरी-मार्च तिमाही के दौरान (जीडीपी) में 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।
आंकड़ों के मुताबिक भारतीय अर्थव्यवस्था के आकार में 2020-21 के दौरान 7.3 प्रतिशत संकुचन हुआ, जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था 4 प्रतिशत की दर से बढ़ी थी।

एनएसओ ने इस साल जनवरी में जारी अपने पहले अग्रिम अनुमानों के आधार पर कहा था कि 2020-21 के दौरान जीडीपी में 7.7 प्रतिशत गिरावट रहेगी। चीन ने जनवरी-मार्च 2021 में 18.3 प्रतिशत
की आर्थिक वृद्धि दर्ज की है। (एजेंसियां)



और भी पढ़ें :