कोरोनावायरस का बढ़ता कहर, 4 शहरों से जानिए क्यों बुरा है महाराष्ट्र का हाल

Last Updated: शुक्रवार, 26 फ़रवरी 2021 (15:04 IST)
पालघर। में लगातार दूसरे दिन (Coronavirus) के 8000 से अधिक नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 21 लाख 29 हजार 821 तक पहुंच गए। लोगों की मास्क, सैनेटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग से दूरी की वजह से राज्य में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। आइए जानते हैं 4 शहरों का हाल...

ठाणे में कोविड-19 के 734 नए मामले :
महाराष्ट्र के ठाणे जिले में गुरुवार को कोविड-19 के 734 नए मामले सामने आने के बाद यहां संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 2,63,014 हो गए।
वायरस से 5 और लोगों की मौत के बाद, जिले में मृतक संख्या बढ़कर 6,256 हो गई। यहां कोविड-19 से मृत्यु दर 2.38 प्रतिशत हैं। जिले में अभी तक 2,51,455 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं, यहां मरीजों के ठीक होने की दर 95.61 प्रतिशत है।

के पोहरादेवी मंदिर में 19 कोरोना संक्रमित :महाराष्ट्र के वाशिम जिले में मंदिर के एक महंत और 18 अन्य व्यक्ति गुरुवार को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। 2 दिन पहले ही मंत्री संजय राठौड़ और बड़ी संख्या में उनके समर्थक मंदिर आए थे। पुणे में एक युवती की मौत के मामले में आरोपों का सामना कर रहे मंत्री को मंगलवार को राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच पोहरादेवी मंदिर में भीड़ जमा होने को लेकर आलोचनाओं का सामना किया था।
स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, 'एक एहतियाती उपाय के तौर पर स्वास्थ्य विभाग ने वहां मौजूद लोगों की जांच की। महंत कबीरदास और 18 अन्य ने कोविड-19 से संक्रमित पाए गए।'

में साप्ताहिक बाजारों पर रोक :
महाराष्ट्र के पालघर के अधिकारियों ने कोरोना वायरस संक्रमण के हालात के मद्देनजर जिले में साप्ताहिक बाजारों पर और बड़े स्तर पर वैवाहिक समारोह पर रोक लगा दी है। जिलाधिकारी माणिक गुरसाल ने गुरुवार को आदेश जारी कर 25 फरवरी से अगले आदेश तक इन पर रोक लगा दी है।
जिलाधिकारी ने बड़े स्तर पर वैवाहिक समारोह पर भी रोक लगा दी है। दिशा-निर्देशों के तहत केवल 50 लोग ही शादी समारोह में शामिल हो सकते हैं। पालघर में गुरुवार को संक्रमण के 45 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 45,838 हो गए हैं और संक्रमण से 1,204 लोगों की मौत हुई है।

लातूर में 5 दिन में सभी छात्रों का कोरोना टेस्ट :महाराष्ट्र के लातूर में जिला प्रशासन ने निजी कोचिंग केन्द्रों और प्रशिक्षण संस्थानों को 5 दिन में अपने सभी छात्रों की कोरोना वायरस संक्रमण की जांच कराने का आदेश दिया है।

लातूर के जिलाधिकारी पृथ्वीराज बीपी ने जिले के शैक्षणिक संस्थानों को संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए दिशा-निर्देशों का पालन करने का अनुरोध किया है। उन्होंने अगले 5 दिनों में प्रत्येक छात्र की कोरोना वायरस संक्रमण की जांच कराने को कहा है। संस्थानों से यह भी सुनिश्चित करने को कहा गया है कि एक कमरे में छात्रों के बीच 1.2 मीटर की दूरी होनी चाहिए। इसके अलावा छात्रावास में भी एक समय में अधिकतम 50 छात्रों को रहने की ही मंजूरी देने को कहा गया है और एक कमरे में दो से ज्यादा छात्र नहीं होने चाहिए।
लातूर में संक्रमितों की संख्या 25,125 हो गई है। फिलहाल 460 मरीज उपचाराधीन हैं। संक्रमण के कारण 704 लोगों की मौत हुई है।



और भी पढ़ें :