एक दिन की गिरावट के बाद देश में फिर बढ़े मरीज, पिछले 24 घंटे में आए 43,893 नए केस, 508 की मौत

पुनः संशोधित बुधवार, 28 अक्टूबर 2020 (11:22 IST)
नई दिल्ली। देश में संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है और ये फिर से 40 हजार के पार पहुंच गए हैं तथा एक दिन में होने वाले मृत्यु की संख्या भी 500 से ऊपर हो गई है।
केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना के नए मामले 43,893 नए मामले सामने आए जबकि 1 दिन पहले इनकी संख्या 36,470 थी। इस दौरान 58,439 लोगों ने इस महामारी को मात दी। इससे सक्रिय मामले 15,054 घटकर 6,10,803 रह गए हैं। इस दौरान 508 मरीजों की मौत होने से इससे जान गवाने वालों की संख्या 1 लाख 20 हजार से अधिक हो गयी है।

कोरोना से अबतक 79.90 लाख लोग संक्रमित हुए है जिनमें से 72.59 लाख स्वस्थ्य हो चुके हैं। इससे स्वस्थ होने वालों की दर बढ़कर 90.85 प्रतिशत और सक्रिय मामलों की दर 7.64 प्रतिशत रह गयी है, जबकि मृत्यु दर 1.50 फीसदी है।
इस महामारी से सबसे अधिक प्रभावित महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान सक्रिय मामलों में 2,588 मामलों की कमी आने के साथ इनकी संख्या घटकर 1,32,059 हो गई हैं जबकि 115 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 43,463 हो गई है, वहीं इस दौरान 7,836 लोग स्वस्थ हुए हैं, जिससे इस महामारी से निजात पाने वाले लोगों की संख्या 14.78 लाख से अधिक हो गई है।
कब कितने मामले : भारत में 7 अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख के पार चली गई थी, 23 अगस्त को 30 लाख और 5 सितंबर को संक्रमितों की संख्या 40 लाख से ऊपर चली गई थी। मामले 16 सितंबर को 50 लाख के पार, 28 सितंबर को 60 लाख और 11 अक्टूबर को 70 लाख के पार चले गए थे।
जांच का आंकड़ा 10 करोड़ के पार :देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) की रोकथाम के लिए अधिक से अधिक जांच कर संक्रमितों का पता लगाने की मुहिम में 27 अक्टूबर को जांच का कुल आंकड़ा साढ़े 10 करोड़ को पार कर गया।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के बुधवार को जारी आंकड़ों में बताया गया कि 27 अक्टूबर को दस लाख 60 हजार 786 कोरोना नमूनों की जांच की गई और इसे मिलाकर कुल परीक्षण का आंकड़ा दस करोड़ 54 लाख 87 हजार 680 पर पहुंच गया।
कोरोना वायरस के बड़े स्तर पर फैलाव की रोकथाम के लिये देश में दिन प्रतिदिन इसकी अधिक से अधिक जांच की मुहिम में 24 सिंतबर को एक रोज में 14 लाख 92 हजार 409 नमूनों की रिकॉर्ड जांच की गई थी।



और भी पढ़ें :