COVID-19 : वायुसेना और नौसेना ने मदद के लिए प्रयास किए तेज

पुनः संशोधित शनिवार, 8 मई 2021 (00:07 IST)
नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने 7 देशों से 72 क्रायोजेनिक ऑक्सीजन स्टोरेज कंटेनर और 1,252 ऑक्सीजन सिलेंडर लाने के लिए 59 उड़ानों का संचालन किया है। रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इन 7 देशों में सिंगापुर, दुबई, थाइलैंड, ब्रिटेन, जर्मनी, बेल्जियम और ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं।
भारत कोरोनावायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर से बुरी तरह प्रभावित है। विभिन्न राज्यों के अस्पतालों में ऑक्सीजन, टीकों, दवाओं, उपकरणों और बिस्तरों की भारी किल्लत हो गई है।

मंत्रालय ने कहा शुक्रवार को तक वायुसेना सी-17 विमान की 400 उड़ानों का संचालन कर चुकी है। इसमें से 351 उड़ानों का संचालन कुल 4,904 मीट्रिक टन की क्षमता वाले 252 ऑक्सीजन टैंकरों को लाने के लिए किया गया।
ALSO READ:
...तो नहीं आएगी की तीसरी लहर
वायुसेना के अलावा नौसेना ने भी ऑक्सीजन कंटेनर और चिकित्सा उपकरणों की ढुलाई कर कोविड-19 की मौजूदा लहर से निपटने में नागरिक प्रशासन की मदद की है।

मंत्रालय ने कहा कि नौसेना ने मित्र देशों से ऑक्सीजन कंटेनर, सिलेंडर, सांद्रक और संबंधित उपकरण लाने के लिए आईएनएस तलवार, आईएनएस कोलकाता, आईएनएस ऐरावत, आईएनएस कोच्चि, आईएनएस तबर, आईएनएस त्रिकंद, आईएनएस जलाश्व और आईएनएस शार्दुल को तैनात किया है।
पांच मई को भारतीय नौसेना ने फारस की खाड़ी और दक्षिण पूर्व एशिया के सात देशों से तरल ऑक्सीजन और अन्य चिकित्सा उपकरणों की आपूर्ति के लिए युद्धपोत तैनात किए थे।(भाषा)



और भी पढ़ें :