Corona काल में पुलिस का अमानवीय चेहरा, शव का टायर से अंतिम संस्कार

हिमा अग्रवाल| पुनः संशोधित मंगलवार, 18 मई 2021 (19:32 IST)
कोरोना काल (Coronavirus) में दिल को झकझोरने वाली तस्वीरें लगातार सामने आ रही हैं। जहां एक तरफ गंगा नदी में लाशें बहकर आ रही हैं, तो कहीं नदी के किनारे रेत के नीचे अनगिनत शव दफन हो गए हैं। उत्तर प्रदेश के मुखिया ने सख्त रुख अपनाते हुए जिला प्रशासन को निगरानी और सख्ती के आदेश दिए हैं। जिसके चलते गंगा नदी के सभी छोरों और घाटों पर पुलिस का पहरा बैठा दिया गया है।
ALSO READ:
वैक्सीनेशन स्लॉट बुक करने के नाम पर फर्जीवाड़ा,Telegram और Paytm पर शाम को स्लॉट ओपन होने की खबर अफवाह
ऐसे में पुलिस का अमानवीय चेहरा भी सामने आया है। जहां गंगा घाट पर नदी में बहकर आए एक अज्ञात शव को पेट्रोल और डालकर जलाने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

इंसानियत को शर्मसार करने वाली ये तस्वीरें बलिया जिले की हैं। जहां सोमवार की रात्रि में गंगा नदी में एक शव बहकर आया तो पुलिसकर्मियों ने टायर और पेट्रोल की सहायता से शव का करवा दिया।

पुलिस की ये करतूत वहां किसी ने अपने कैमरे में कैद कर ली, जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। अज्ञात शव के अंतिम संस्कार का आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने के बाद बलिया एसपी ने 5 सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है।
मिली जानकारी के मुताबिक 15 मई को बलिया के मल्लाहों ने फेफना थाने को सूचना दी कि गंगा नदी के माल्देपुर घाट पर एक शव पड़ा हुआ है और कुत्ते उसे नोंच रहे हैं। सूचना पर माल्देपुर थाने से 5 पुलिसकर्मियों को शव के अंतिम संस्कार के लिए भेजा गया। गंगा घाट पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने शव का अंतिम संस्कार करने में लापरवाही दिखाई, चिता को जल्दी जलाने के लिए उस पर लकड़ी के साथ टायर रखकर पेट्रोल छिड़क दिया।

इन पुलिस वालों की यह शर्मनाक कारस्तानी कैमरे में कैद हो गई जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। सोशल मीडिया पर बलिया पुलिस की जमकर थू-थू होने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए कड़ी कार्रवाई करते हुए तत्काल प्रभाव से 5 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया और इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच अपर पुलिस अधीक्षक को सौंप दी है।



और भी पढ़ें :