क्या है 'सुपर रिच टैक्स' विवाद, पढ़िए उससे जुड़ा पूरा मामला

Last Updated: मंगलवार, 28 अप्रैल 2020 (18:15 IST)
दुनिया के साथ ही भारत भी इस समय कोरोना महामारी से जूझ रहा है। महामारी के बीच खबरें टैक्स की दरों को बढ़ाने को लेकर आईं और इससे जुड़ा एक शब्द प्रचलन में आया 'सुपर रिच टैक्स'। सोशल मीडिया पर ये खबरें आई कि कोरोना काल में सरकार टैक्स की दरों में बढ़ोतरी कर रही है। आखिर क्या है यह पूरा मामला समझिए।
सोशल मीडिया पर लीक हुई रिपोर्ट :
कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर आयकर से जुड़ी कुछ रिपोर्ट चल रही थी। 44 पेज की इस रिपोर्ट में कुछ युवा भारतीय राजस्व सेवा (IRS) अधिकारियों ने कोरोना वायरस से हो रहे आर्थिक नुकसान से निपटने के लिए सुपर रिच पर टैक्स बढ़ाकर 40 प्रतिशत करने, महामारी सेस लगाने और विदेशी कंपनियों पर ज्यादा टैक्स लगाने का सुझाव दिया था। इन सुझावों के लीक होने के बाद करदाताओं में खलबली मच गई।
ने जारी किया नोटिस : इस पूरे मामले में 3 वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ चार्जशीट जारी किया गया है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) के सूत्रों के मुताबिक 3 वरिष्ठ राजस्व अधिकारियों द्वारा तैयार की गई विवादित रिपोर्ट के सार्वजनिक होने के बाद इस मामले में CBDT ने सख्ती से कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी है।
सीबीडीटी के मुताबिक भारतीय राजस्व सेवा (IRS) के तीन वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ चार्जशीट की गई है।है। इनके खिलाफ ये चार्जशीट सरकारी अधिकारियों के कंडक्ट नियम की अवहेलना करने के आधार पर जारी हुई हैं और इन तीनों को तत्काल प्रभाव से उनकी जिम्मेदारियों से हटा दिया गया है।



और भी पढ़ें :