मंगलवार, 31 जनवरी 2023
  1. समाचार
  2. ऑटो मोबाइल
  3. कार न्यूज़
  4. Tata Nexon Electric Catches Fire In Mumbai
Written By
पुनः संशोधित गुरुवार, 23 जून 2022 (21:28 IST)

Tata Nexon EV में लगी आग, इलेक्ट्रिक गाड़ियों की सुरक्षा पर उठने लगे सवाल

मुंबई। पिछले दिनों भारत में कई इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग लगने की खबरें सुनने को आई हैं। इस बार कार बनाने वाली दिग्गज कंपनी Tata Motors की पॉपुलर एसयूवी Tata Nexon EV पर आग लगने की सूचना मिली है। महाराष्ट्र में एक Tata Nexon EV कार में आग लगने की घटना सामने आई है। घटना से जुड़ा एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।  इसके चलते इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की सेफ्टी को लेकर सवाल उठ रहे हैं। 
 
इस संबंध में टाटा मोटर्स ने एक बयान में कहा कि हम, हाल ही में वाहन में आग लगने से संबंधित घटना के तथ्यों का पता लगाने के लिए गहराई से जांच कर रहे हैं। हम अपनी कार्रवाई पूरी होने के बाद ही इस संबंध में विस्तृत जानकारी साझा करेंगे। इलेक्ट्रिक वाहन में आग लगने की घटना को सोशल मीडिया मंच पर व्यापक रूप से साझा किए जाने के बीच कंपनी ने यह बयान जारी किया है। कंपनी ने कहा कि वह अपने वाहनों और ग्राहकों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। 
 
वाहन विनिर्माता ने कहा कि लगभग चार साल में यह पहली घटना है। इस दौरान अबतक 30,000 से अधिक इलेक्ट्रिक वाहनों ने पूरे देश में संयुक्त रूप से 10 करोड़ (रिपीट 10 करोड़) किलोमीटर से अधिक की दूरी तय की है। दोपहिया इलेक्ट्रिक वाहनों में बीते कुछ दिनों में आग लगने की कई घटनाएं सामने आई है। ओला इलेक्ट्रिक, ओकिनावा ऑटोटेक और प्योर ईवी जैसे कई इलेक्ट्रिक दोपहिया विनिर्माताओं ने इन घटनाओं के चलते अपने बिचली चालित वाहनों को वापस मंगाया है। सरकार ने भी इन घटनाओं के मद्देनजर जांच के लिए एक समिति गठित की है। इसके साथ ही वाहन विनिर्माताओं को लापरवाही बरतने पर दंड की चेतावनी भी दी है।
 
सरकार की समिति दे सकती है फैसला : बिजली से चलने वाले दोपहिया वाहनों में आग लगने के मामलों की जांच और इससे बचाव के उपाय सुझाने के लिए गठित विशेषज्ञ समिति इस महीने अपनी रिपोर्ट सौंप सकती है। सड़क परिवहन मंत्रालय एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी।
 
हाल ही में इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) में आग लगने की कई घटनाएं हुई है, जिसमें कुछ लोगों की मौत हुई और कुछ लोग गंभीर रूप से घायल हुए। अधिकारी ने कहा कि विशेषज्ञ समिति इस महीने (बैटरी मानकों और प्रमाणन पर गठित) अपनी रिपोर्ट सौंप सकती है।
 
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में कहा था कि लापरवाही बरतने वाली कंपनियों को दंडित किया जाएगा और विशेषज्ञ समिति के रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद सभी खराब वाहनों को वापस बुलाने का आदेश दिया जाएगा। पुणे में अप्रैल माह में ओला के ई-स्कूटर में आग लगने की घटना के बाद सरकार ने जांच के आदेश दिए थे।
ये भी पढ़ें
Realme TechLife की नई स्मार्टवॉच, सस्ती कीमत के साथ धमाकेदार फीचर्स