रविवार, 21 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. विधानसभा चुनाव 2020
  3. बिहार विधानसभा चुनाव 2020
  4. Bihar elections: political parties and candidates are campaigning with the help of mask
Written By Author विकास सिंह
Last Updated : मंगलवार, 29 सितम्बर 2020 (16:51 IST)

कोरोनाकाल में चुनाव: अबकी बार मास्क के सहारे चुनाव प्रचार,झंडे,बैनर की जगह मास्क खरीद रहे उम्मीदवार

बिहार और मध्यप्रदेश के उपचुनाव में मास्क के जरिए सियासी दल कर रहे चुनाव प्रचार

कोरोनाकाल में चुनाव: अबकी बार मास्क के सहारे चुनाव प्रचार,झंडे,बैनर की जगह मास्क खरीद रहे उम्मीदवार - Bihar elections: political parties and candidates are campaigning with the help of mask
कोरोनाकाल में हो रहे बिहार विधानसभा के चुनाव में इस बार प्रचार के कई पुराने परंपरागत तरीके नहीं दिखाई देंगे। कोरोना के चलते इस बार पूरा चुनाव प्रचार वर्चुअल तरीके से होगा वहीं पार्टियां कोरोना से बचाव के लिए लगाए जाने वाले मास्क के जरिए भी अपना चुनाव प्रचार कर रही है। चुनाव आयोग ने तारीखों के एलान के साथ ही साफ कर दिया है कि पूरा चुनाव प्रचार सिर्फ वर्चुअल तरीके से होगा और डोर-टू-डोर चुनाव प्रचार के लिए भी 5 से ज्यादा लोगों को अनुमति नहीं दी जाएगी।
 
चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की सख्त हिदायत दी है। जिसके बाद अब राजनीतिक पार्टियां अपने चुनाव निशान वाले मास्क के जरिए लोगों तक पहुंच बढ़ाने की कोशिश कर रही है। 
बिहार की राजधानी पटना में चुनाव प्रचार सामग्री बेचने वाले बड़े कारोबारी शांति प्रिंटर्स के संचालक राजीव रतन सिंह 'वेबदुनिया' से बातचीत में कहते हैं कि इस बार चुनाव में प्रत्याशियों की फोटो के साथ पार्टी के चुनाव निशान वाले मास्क की बिक्री होने की काफी संभावना है। बड़े पैमाने पर संभावित प्रत्याशियों की तरफ से अन्य चुनाव सामाग्री के साथ-साथ मास्क के ऑर्डर भी दिए गए है। वहीं अब चुनाव की घोषणा हो गई है तो जैसे जैसे उम्मीदवारों के टिकट फाइनल होते जाएंगे वैसे-वैसे मास्क की बिक्री और बढ़ने की संभावना है।
 
'वेबदुनिया' से बातचीत में राजीव कहते हैं कि इस बार कोरोना के चलते वर्चुअल तरीके से चुनाव प्रचार होने और रैलियां और जुलूस नहीं निकलने से बैनर,पोस्टर,झंडा,टोपी जैसे परंपरागत चुनाव सामग्री बिक्री न के बराबर है उसकी जगह तरह-तरह के मास्क और डिजिटल चुनाव प्रचार सामग्री ने ले ली है।
वह कहते हैं कि हर बार चुनाव में इसका बड़ा बिजनेस होता था लेकिन इस बार जब बड़ी-बड़ी रैलियां ही नहीं होगी तो झंडा,बैनर, पोस्टर और टोपी की बिक्री ही कहा होगी। चुनाव आयोग की गाइडलाइन के बाद लगता है कि इस बार मात्र तीस फीसदी ही बिजनेस हो पाएगा।   

उपचुनाव में मास्क के जरिए चुनाव प्रचार– मध्यप्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव कब होंगे यह भले ही 29 सितंबर को साफ होगा लेकिन उससे पहले सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा मास्क के सहारे वोटरों को रिझाने की कवायद में जुट गई है। 
पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती से भाजपा ने प्रदेश में महाजनसंपर्क अभियान शुरु किया है। उपचुनाव की तारीखों के एलान से ठीक पहले चलने वाले इस जनसंपर्क अभियान में पार्टी उपचुनाव वाले विधानसभा क्षेत्रों में पर वोटरों तक पहुंचकर उनको भाजपा के चुनाव चिन्ह वाले मास्क का वितरण कर रही है। इसके लिए प्रदेश भाजपा कार्यालय से हर विधानसभा क्षेत्र में हजारों की संख्या में मास्क भेजे गए है। 
पार्टी के चुनाव चिन्ह वाले इन मास्क के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के स्टीकर भी बड़ी संख्या में विधानसभा क्षेत्रों में भेजे गए है। पार्टी की रणनीति उपचुनाव की तरीखों के एलान के बाद नरेंद्र मोदी और शिवराज सिंह चौहान के चित्र वाले मास्क बांटने की है।