नीतीश कुमार की सभा के दौरान फेंके गए प्‍याज, CM बोले- खूब फेंको, फेंकते रहो...

पुनः संशोधित मंगलवार, 3 नवंबर 2020 (22:51 IST)
मधुबनी। के दौरान (Nitish Kumar) आज जब मधुबनी (Bihar's Madhubani) में प्रचार कर रहे थे तो मंच पर प्‍याज फेंके गए।
ALSO READ:
मध्यप्रदेश उपचुनाव : छुटपुट घटनाओं के बीच 28 विधानसभा सीटों पर 70 प्रतिशत वोटिंग


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जनसभा में व्यावधान डालने के इरादे से आज फिर कुछ लोगों ने उनके भाषण के दौरान ही उनपर निशाना साधते हुए प्याज फेंका लेकिन उन्होंने इस पर ध्यान नहीं देने की जरूरत बताते हुए रोजगार और अन्य मुद्दों को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) पर निशाना साधा।
मुख्यमंत्री मंगलवार को मधुबनी जिले के हरलाखी विधानसभा क्षेत्र के गंगौर गांव स्थित नंदलाल महावीर विद्यालय के प्रांगण में जनता दल यूनाइटेड (JDU) के उम्मीदवार सुधांशु शेखर के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए अपनी सरकार की उपलब्धियां गिना रहे थे तभी मंच के सामने से किसी ने उन्हें निशाना बनाकर प्याज फेंका जो उन तक नहीं पहुंचा।
घटना के बाद सुरक्षाकर्मी सतर्क हो गये और मुख्यमंत्री को अपने घेरे में ले लिया। कुमार ने बिना आपा खोए कहा, 'खूब फेंको, खूब फेंको।' उन्होंने सुरक्षाकर्मियों और आम जनता से अपील करते हुए कहा कि 'छोड़ दीजिए। इस पर ध्यान मत दीजिए।' नीतीश कुमार ने अपना भाषण जारी रखते हुए कहा कि यह जान लो, मालूम हो जाएगा। रोजगार का कितना अवसर पैदा होगा हमने बता दिया है।

किसी को मजबूरी में बिहार से बाहर जाना नहीं पड़ेगा। बिहार में लोगों के लिए रोजगार पैदा होगा। आज जो बोलता रहता है सरकारी नौकरी के बारे में हम बता देते हैं जब 15 साल राज करने का मौका मिला तब 10 साल झारखंड बिहार एक था तब कितने लोगों को नौकरी मिली। उस समय ये लोग 95000 लोगों को ही नौकरी दे पाए। जब हम लोगों को मौका मिला तो हम लोगों ने 6 लाख से ज्यादा लोगों को सरकारी नौकरी दी और कितने लोगों को काम मिल रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे बड़ी बात है कि सरकारी नौकरी सभी को नहीं मिलती है। कोई इस पर बोलता है तो उसको ‘क ख ग’ का ज्ञान नहीं है। सरकारी नौकरी की भी सीमा होती है लेकिन सबको काम करने का अवसर मिलेगा।

उन्होंने कहा कि वह पहले भी बता चुके हैं कि नई तकनीक के जरिए और जो नई औद्योगिक नीति बनी है उसके जरिए बिहार में इतना ज्यादा उद्योग का विकास करने जा रहे हैं कि लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि बिहार के बाहर से जो लोग आए हैं शायद सबको पता नहीं है कि कितनी बड़ी संख्या में ऐसे लोग यहां काम कर रहे हैं।
कुमार ने कहा कि यहां बहुत ज्यादा काम हो रहा है लेकिन कुछ लोग हैं जो उल्टा-पुल्टा करते रहते हैं। समाज में तो सब लोग ठीक तो हो नहीं सकते हैं कुछ तो लोग गड़बड़ करेगा ही। इसलिए, हम लोगों को ऐसे लोगों की कोई चिंता नहीं है। कुछ लोगों की चिंता सिर्फ अपने परिवार के लिए है लेकिन मेरे लिए तो पूरा बिहार एक परिवार की तरह है और लोगों की सेवा करना ही हमारा धर्म है इसलिए मौका दीजिएगा तो बिहार बहुत आगे बढ़ेगा। यही भरोसा दिलाने हम आए हैं।

उन्होंने लोगों से हर हाल में शांति और सद्भाव का माहौल बिहार में बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि कुछ लोग समाज को बांटना चाहते हैं और इसके लिए विवाद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन उनके चक्कर में नहीं पड़ना है अन्यथा बिहार फिर से 2005 के पहले वाला बिहार बन जाएगा, जहां शाम के बाद घर से निकल पाना मुश्किल था। इसके कारण कितनी बड़ी संख्या में व्यापारियों और डॉक्टरों को बिहार छोड़कर भागना पड़ा था।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम लोग काम करते हैं, कुछ लोग जनता को गुमराह करते हैं। यदि गुमराह करने वाले की बात चलेगी तो समाज टुकड़ों में बंट जायेगा और बर्बाद हो जाएगा, इसलिए सभी वादा करें कि प्रेम, भाईचारे और सद्भावना का माहौल कायम रखा जाएगा।
बिहार के लोग जब एकजुट होकर रहेंगे तभी बिहार आगे बढ़ेगा और देश की तरक्की में योगदान करेगा। उन्होंने कहा कि आज केंद्र की नरेंद्र भाई मोदी सरकार से राज्य को पूरा सहयोग मिल रहा है। मोदी देश के विकास के लिए काम करें और उन्होंने बिहार के विकास के लिए अतिरिक्त कार्यक्रम शुरू किया है। केंद्र सरकार का सहयोग और राज्य सरकार की मेहनत मिलकर बिहार को नई उंचाई पर ले जाएगा।
इस बीच अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने पटना में पत्रकारों को बताया कि मधुबनी में मुख्यमंत्री की जनसभा में गड़बड़ी करने वालों की पहचान कर ली गई है। उनके खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया गया है और कार्रवाई की जा रही है।



और भी पढ़ें :