...तो क्या सुशील मोदी नहीं रहेंगे बिहार के डिप्टी सीएम

Last Updated: शुक्रवार, 13 नवंबर 2020 (15:25 IST)
हमें फॉलो करें
पटना। बिहार में एनडीए को बहुमत‍ मिलने के बाद अब सरकार गठन की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस बीच, एक बड़े घटनाक्रम में उपमुख्‍यमंत्री पद के लिए का नाम सामने आया है। यदि ऐसा होता है कि सुशील कुमार मोदी की डिप्टी सीएम पद से छुट्‍टी तय है।


शुक्रवार को 1 अणे मार्ग पर हुई एनडीए की बैठक के बाद कामेश्वर चौपाल का नाम तेजी से उभरा है। इस समय चौपाल भी पटना में ही हैं। जब उनसे इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यदि पार्टी मुझे कोई जिम्मेदारी देती है तो मैं उससे भागूंगा नहीं। हालांकि जदयू की कम सीटों के बावजूद मुख्‍यमंत्री पद के लिए नीतीश कुमार के नाम पर सहमति हो चुकी है।
दरअसल, कामेश्वर चौपाल दलित समुदाय से आते हैं और राम मंदिर आंदोलन से भी जुड़े हुए हैं। ऐसे में पार्टी का मानना है कि कामेश्वर को आगे बढ़ाने से दलित वोटरों के साथ हिन्दू वोट भी भाजपा की ओर आकर्षित होंगे। रामविलास पासवान के निधन के बाद बिहार में एक दलित नेता की भी कमी खल रही है।

दूसरी ओर, यदि कामेश्वर चौपाल डिप्टी सीएम पद पर आसीन होते हैं तो सुशील कुमार की विदाई तय है। यदि सुशील की रवानगी होती है तो निकट भविष्य में नीतीश कुमार के लिए भी मुश्किलें खड़ी हो सकती है। क्योंकि नीतीश कुमार और सुशील मोदी के बीच अच्छा तालमेल है।



और भी पढ़ें :