10 मई को बुध वक्री : 6 राशियों को मिलेगा वाणी से लाभ, 6 के जीवन में होगी तकरार

Budh grah Mercury
Budh grah Mercury
पुनः संशोधित सोमवार, 9 मई 2022 (18:09 IST)
हमें फॉलो करें
Budh grah ka vrishabha rashi parivartan 2022 : 8 अप्रैल को बुध का मीन राशि से मेष राशि में गोचर करने के बाद 25 अप्रैल 2022 से वृषभ राशि में है जहां वह रहकर 10 मई को शाम 5:16 बजे इसी राशि में वक्री होगा, फिर फिर 3 जून, 2022 को मार्गी हो जाएगा। 13 मई को यह अस्त हो जाएगा। आओ जानते हैं कि वक्री बुध का क्या होगा असर।


मेष (Mesh rashi) : आपकी राशि के दूसरे भाव में बुध का गोचर आर्थिक दृष्टिकोण से सही नहीं माना जा रहा है। धन की हानि हो सकती है। भाई बहनों से मतभेद हो सकते हैं। नौकरीपेशा जातकों का सहकर्मियों से विवाद हो सकता है। व्यापार में मिलाजुला असर रहेगा। हलांकि इस दौरान आपकी वाणी में सुधार होने के चलते लाभ मिलेगा।

वृषभ (vrishabha rashi): आपकी राशि के लग्न भाव में बुध वक्री होगा। आर्थिक दृष्टिकोण से यह समय शुभ है। परिवार में खुशियां रहेगी। सेहत का ध्यान रखना होगा। योजनाएं सफल होगी। वाणी के चलते लाभ पाएंगे।

मिथुन (mithun rashi): आपकी राशि के बारहवें भाव में वक्री होगा। इस दौरान आपको कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। यात्रा के योग हैं।

कर्क (kark rashi): आपकी राशि के ग्यारहवें भाव में वक्री होगा। आर्थिक दृष्टिकोण से यह समय लाभकारी है। आय के साधन बढ़ेंगे। नौकरीपेशा लोगों के लिए सकारात्मक रहेगा। व्यापार में लाभ होगा। वाणी में सुधार होगा और उसके प्रभाव सभी पर रहेगा।

सिंह (singh rashi): आपकी राशि के दसवें भाव में वक्री होगा। आपकी आमदानी बढ़ जाएगी। निवेश से लाभ होगा। हालांकि व्यवसाय में सतर्क रहकर कार्य करना होगा। घर परिवार में सुख और शांति भंग होने की संभावना है।
budh grah
कन्या (kanya rashi): आपकी राशि के नौवें भाव में वक्री होगा। हर कार्य में मेहनत रंग लाएगी। नौकरी में नकारात्मक परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं। विवाद से बचकर रहें। व्यवसाय हेतु यात्रा पर जा रहे हैं तो इसके सफल होने में शंका है।
तुला (tula rashi): आपकी रशि के आठवें भाव में वक्री होगा। इस दौरान आपको आर्थिक नुकसान हो सकता है। व्यापार में किसी भी प्रकार का जोखिम न उठाएं। आपके खर्चें बढ़ जाएंगे। नौकरी में बदलावा की संभावना है। हालांकि आपको सतर्क रहकर ही कोई कार्य करना चाहिए। अपनी वाणी को मधुर बनाएं रखें।

वृश्‍चिक (vrishchik rashi): आपकी राशि के सातवें भाव में बुध वक्री होगा। दांपत्य जीवन में गलतफहमियां होने के कारण खटपट हो सकती है। जीवनसाथी की सेहत का ध्यान रखना होगा। साझेदारी के व्यापार में उतार-चढ़ाव देखने को मिलेगा।
धनु (dhanu rashi): आपकी राशि के छठे भाव में बुध वक्री होगा। दांपत्य जीवन में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। जीवनसाथी की सेहत का ध्यान रखें। व्यापार के लिए यह स्थिति अनुकूल है जिसके चलते मुनाफा होगा। नौकरी में भी तरक्की की संभावना है। वाणी प्रखर होगी।

मकर (makar rashi): आपकी राशि के पांचवें भाव में वक्री होगा बुध। शिक्षक और छात्रों के लिए यह समय शुभ रहेगा। कार्यक्षेत्र में भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। खुद की और परिवार की सेहत का ध्यान रखना होगा।

कुंभ (kumbha rashi): आपकी राशि के चौथे भाव में बुध वक्री हो रहा है। परिवार के सदस्यों के साथ आपके मतभेद हो सकते हैं। भूमि या भवन में निवेश कर सकते हैं। घर की मरम्मत का कार्य भी करवा सकते हैं। यात्रा के योग हैं। कार्यक्षेत्र में मिलेजुले परिणाम देखने को मिलेंगे।

मीन (meen rashi): आपकी राशि के तीसरे भाव में बुध वक्री हो रहा है। भाई-बहनों का सहयोग मिलेगा। नौकरीपेशा हैं तो आपको अपनी योग्यता साबित करने का अवसर मिलेगा। व्यापार में भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेगा। वाणी का प्रभाव देखने को मिलेगा।



और भी पढ़ें :