शत्रु संकट के निवारण हेतु जपें हनुमानजी का सिद्ध मंत्र


बजरंगबली जपे और शत्रु पीड़ा कटे। श्रीराम दूत के स्मरण मात्र से संकटों का निवारण होता है। यदि करना हो या वियजश्री की अभिलाषा हो तो जपें यह मंत्र : - 
 
>  
'पूर्व कपि मुखाय पंचमुख हनुमते टं टं टं टं सकल शत्रु संहारणाय स्वाहा।।'  
 
आगे पढ़ें किस तरह और कितने मंत्र का करें जप... 



और भी पढ़ें :