0

नवग्रहों के 9 बीज मंत्र, जानिए कौन सा मंत्र जपें कितनी बार

गुरुवार,अप्रैल 9, 2020
Navgrah Mantra
0
1
राहु एक रहस्यमयी ग्रह है। आइए जानते हैं इसके विषय में 20 खास बातें
1
2
सूर्य सभी ग्रहों का मुखिया है। सौर देवता, आदित्यों में से एक, कश्यप और उनकी पत्नियों में से एक अदिति के पुत्र। उनके बाल और हाथ सोने के हैं। उनके रथ को सात घो़ड़े खींचते हैं
2
3
बिगड़ा हुआ शुक्र जातक का जीवन ही व्यर्थ सिद्ध करता है, क्योंकि मनुष्य का जन्म ही कर्मों के फल भोगने हेतु होता है। यदि उसे जीवनपर्यंत अशुभ फल ही भोगने पड़ते हैं
3
4
बृहस्पति यानी गुरु ने 5 नवंबर 2019 को स्वराशि धनु में गोचर किया है और 29 मार्च 2020 तक इसी राशि में रहेंगे। गुरु के राशि परिवर्तन का असर सभी राशियों पर असर होगा।
4
4
5
सूर्य ग्रह एक विशालकाय तारा है, जिसके चारों ओर आठों ग्रह और अनेकों उल्काएं चक्कर लगाते रहते हैं। वैज्ञानिक कहते हैं कि यह जलता हुआ विशाल पिंड है। इसकी गुरुत्वाकर्षण शक्ति के बल पर ही समस्त ग्रह इसकी तरफ खींचे रहते हैं अन्यथा सभी अंधकार में न जाने ...
5
6
Navratri 2019: नवरात्रि में मां दुर्गा के 9 रूप करते हैं 9 ग्रहों को शांत, हर ग्रह की देवी है खास
6
7
सूर्य की शांति करने के लिए इन पांच विधियों में से किसी भी एक विधि का प्रयोग किया जाता है। गोचर में सूर्य के अनिष्ट प्रभाव को दूर करने में ये उपाय विशेष रूप से उपयोगी हो सकते हैं।
7
8
बुध सूर्य के सबसे निकट का ग्रह है। यह सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह है। यह जातक के दांत, गर्दन, कंधे व त्वचा पर अपना प्रभाव डालता है।
8
8
9
हमारा जीवन प्रकृति और प्रारब्ध के द्वारा संचालित होता है, और भी कई कारण होते हैं लेकिन यहां हम बात करेंगे प्रकृति की और जानेंगे कि कैसे रंग और ग्रह हमारे जीवन को प्राभावित करते हैं। दरअसल, ग्रहों के कारण ही धरती पर तरह तरह की वनस्पतियां, खनिज पदार्थ ...
9
10
एक बार सूर्य और चंद्र द्वारा शिकायत करने पर भगवान विष्णु ने अपने सुदर्शन चक्र से इसका धड़ सिर से अलग कर दिया। फलस्वरूप धड़ केतु तथा सिर राहु कहलाया।
10
11
बुध युवा, राजकुमार, आकर्षक और सुकुमार ग्रह माने गए हैं। आइए जानें उन्हें कैसे शुभ बनाया जाए...
11
12
मंगल को कुंडली में शुभ करना है तो 250 ग्राम बताशे मंगलवार को बहते जल में प्रवाहित करें। मंगलवार को किसी से भेंट स्वीकार न करें।
12
13
चंद्र देव सौम्य और शीतल देवता हैं लेकिन कुंडली में अशुभ हो तो कई परे‍शानियां देते हैं आइए जानते हैं उन्हें शुभ कैसे बनाया जाए...
13
14
सूर्य प्रत्यक्ष देवता हैं आइए जानें उन्हें अपनी चमकती सफलता के लिए कैसे शुभ बनाया जाए...
14
15
केतु ग्रह की शुभता के लिए प्रस्तुत है मंत्र और उपाय ...
15
16
राहु ग्रह से डरने के बजाय बेहतर है कि उन्हें कुंडली में अनुकूल बनाने के प्रयास किए जाए... आइए जानें मंत्र और उपाय
16
17
काम, कला और सुंदरता के ग्रह शुक्र की शुभता कुंडली में बहुत जरूरी है। जीवन की समस्त भौतिक संपन्नताएं उन्हीं से मिलती है। आइए जानें उपाय.. .
17
18
देवताओं के गुरुदेव बृहस्पति को कुंडली में शुभ कैसे बनाएं, आइए जानें सरल उपाय
18
19
शनिदेव अत्यंत विशिष्ट देव हैं। वे ग्रह भी है और देवता भी.... उनका प्रताप ऐसा है कि वे राजा को रंक और रंक को राजा बना देते हैं.... आइए जानते हैं उनकी यह 16 विशेषताएं...
19