0

Ganga Dussehra Shubh Muhurat 2020: जानिए गंगा दशहरा का शुभ मंत्र, मुहूर्त,महत्व और कथा

रविवार,मई 31, 2020
Ganga Dussehra 2020 muhurat
0
1
कामधेनु गाय समस्त कामनाओं को पूर्ति करने वाली होती है। आइए जानते हैं कि निर्जला एकादशी के दिन इस कामधेनु अनुष्ठान को कैसे सम्पन्न किया जाए।
1
2
गंगा दशहरा : प्रतिवर्ष ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को "गंगा दशहरा" का पर्व मनाया जाता है। इस बार यह तिथि 1 जून 2020, सोमवार को आ रही है। इसलिए गंगा दशहरा इस साल 1 जून 2020 को मनाया जाएगा।
2
3
जून माह जन्में युवा कुशल अधिकारी, पेंटर, काउंसलर, मैनेजर, टीचर या डॉक्टर होते हैं। राजनीति के लिए अगर इनके सितारे थोड़े भी सहयोग करें तो सब पर छा जाने की ताकत रखते हैं।
3
4
31 मई 2020, रविवार को महेश नवमी है। हर साल ज्येष्ठ माह में शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को महेश नवमी मनाई जाती है। महेश नवमी के दिन भगवान शिव और माता पार्वती का पूजन करने से लेकर अपार सुख, धन संपदा, अखंड सौभाग्य और प्रसन्नता में वृद्धि होती है।
4
4
5
30 मई 2020, को धूमावती जयंती मनाई जाएगी। हिन्दू धर्म के अनुसार ज्येष्ठ माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी को मां धूमावती जयंती मनाई जाती है।
5
6
ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को निर्जला एकादशी का नाम दिया गया है। आइए जानते हैं इस दिन क्या उपाय करने से कामना पूरी होती है...
6
7
जो व्यक्ति सच्चे मन के साथ इस व्रत को करता है उसे समस्त एकादशी व्रत में मिलने वाला पुण्य प्राप्त होता है। आइए जानिए पूजन और पारण के लिए शुभ समय कौन सा है....
7
8
वेदव्यास ने भीम को निर्जला एकादशी व्रत का महत्व बताया था। इस एकादशी को भीमसेनी एकादशी भी कहा जाता है। यह व्रत हमें जल संरक्षण का संदेश देता है। इस दिन जल को ग्रहण नहीं किया जाता है, प्रतीकात्मक रूप से यह संदेश है कि जल को बचाया जाए, ग्रहण तब ही करें ...
8
8
9
व्रतों में प्रमुख व्रत होते हैं नवरात्रि के, पूर्णिमा के, अमावस्या के, प्रदोष के और एकादशी के। इसमें भी सबसे बड़ा जो व्रत है वह एकादशी का है। माह में दो एकादशी होती है। अर्थात आपको माह में बस दो बार और वर्ष के 365 दिन में मात्र 24 बार ही नियम पूर्वक ...
9
10
निर्जला एकादशी के दिन व्रत और उपवास करने से व्यक्ति को दीर्घायु तथा मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस एकादशी को करने से वर्ष की सभी 24 एकादशियों के व्रत के समान फल मिलता है।
10
11
क्या ज्योतिष यह बता सकता है कि किन राशि वालों के पास ज्यादा धन होता है और कौनसी राशि वाले लोग जिंदगीभर संघर्ष ही करते रहे हैं? आओ जानते हैं इस संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी।
11
12
प्रतिमाह शुक्ल और कृष्ण पक्ष के ग्यारहवें दिन एकादशी तिथि मनाई जाती है। एकादशी व्रत-उपवास का महत्व तीनों लोक में प्रसिद्ध है। अगर आप किसी भी तरह के श्राप, पितृ दोष से ग्रसित है, तो उससे मुक्ति पाने के लिए यह दिन बहुत खास है।
12
13
30 मई 2020, दिन शनिवार को शुक्र का तारा रात्रि 10 बजकर 32 मि.पर पश्चिम दिशा में अस्त होगा जो दिनांक 8 जून 2020 दिन सोमवार को दोपहर 2 बजकर 08 मि. पर पूर्व दिशा में उदित होगा।
13
14
हमें स्वप्न के माध्यम से मां लक्ष्मी के घर आने और बहुत सारा धन मिलने के पूर्व संकेत मिलने लगते है। आइए जानें ऐसे ही 10 स्वप्न और उनका फल, जो देते हैं आगामी भविष्य में आपके मालामाल होनी की सूचना।
14
15
बुध अपनी राशि बदल कर मिथुन राशि में आ गए हैं। आइए जानते हैं 12 राशियों पर क्या हो रहा है असर-
15
16
बुध मिथुन राशि में गोचर कर रहा है। बुध के राशि बदलते ही मेष, सिंह, कुंभ और मीन राशि वालों के जीवन में बड़े उतार-चढ़ाव आ सकते हैं। आइए जानते हैं बुध का यह राशि परिवर्तन किन राशि के जातकों को फायदा पहुंचाएगा।
16
17
वैज्ञानिक कहते हैं कि गंगा के पानी में बैक्टीरिया को खाने वाले बैक्टीरियोफ़ाज वायरस होते हैं। ये वायरस बैक्टीरिया की तादाद बढ़ते ही सक्रिय होते हैं और बैक्टीरिया को मारने के बाद फिर छिप जाते हैं।
17
18
हनुमान साधना करने वाले साधकों में सूर्य तत्व अर्थात आत्मविश्वास, ओज, तेजस्विता आदि स्वत: ही आ जाते हैं। लेकिन ध्यान रखें यह 10 बातें...
18
19
सूर्य जब रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है तब नौतपा प्रारंभ होता है। नौतपा वर्ष के वे 9 दिन होते हैं जब सूर्य पृथ्वी के सबसे निकट आ जाता है, इस कारण भीषण गर्मी पड़ती है।
19