0

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी शुभ मुहूर्त : आज 43 मिनट का समय है श्रीकृष्ण की पूजा के लिए

बुधवार,अगस्त 12, 2020
0
1
श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर घरों में बाल गोपाल की पूजा होती है। उनके लिए झूले सजाए जाते हैं। बाल गोपाल की पूजा में कुछ बातों का विशेष ध्यान रखा जाता है। 16 बातें आपके काम की है...
1
2
मनमोहन,केशव, श्याम, गोपाल, कान्हा, श्रीकृष्णा, गोपाल, घनश्याम, बाल मुकुन्द, गोपी मनोहर, श्याम, गोविंद, मुरारी, मुरलीधर के शुभ पर्व जन्माष्टमी 2020 पर कैसे करें श्रीकृष्ण की पूजा....
2
3
इस साल जन्माष्टमी पर राहुकाल दोपहर 12:27 बजे से 02:06 बजे तक रहेगा।
3
4
योगेश्वर भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि दिन बुधवार को रोहिणी नक्षत्र अर्द्धरात्रि में हुआ था। जब चन्द्रमा वृषभ राशि में स्थित था।
4
4
5
भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के दिन प्रात:काल स्नान करके घर को स्वच्छ करें। नाना प्रकार के सुगंधित पुष्पों से घर की सजावट करें व गोपालजी का पालना सजाएं।
5
6
11 और 12 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का शुभ पर्व मनाया जाएगा। आइए हम आपको बताते हैं कि इस दिन ऐसे क्या उपाय करें कि चारों तरफ से धन, संपदा, समृद्धि और सफलता मिलने लगे।
6
7
जन्माष्टमी पर आपने सुना होगा कि 'स्मार्त' व 'वैष्णव' पर्व अलग-अलग दिन मनेगा,अक्सर पंचांग या कैलेण्डर में भी व्रतादि तिथियों के आगे 'स्मार्त' व 'वैष्णव' लिखा देखा होगा।
7
8
जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण को विशेष प्रसाद से प्रसन्न किया जा सकता है।
8
8
9
भगवान श्रीकृष्ण को 56 प्रकार के व्यंजन परोसे जाते हैं जिसे 56 भोग कहा जाता है। बालगोपाल को लगाए जाने वाले इस भोग की बड़ी महिमा है। भगवान श्रीकृष्ण को अर्पित किए जाने वाले 56 भोग के संबंध में कई रोचक कथाएं हैं।
9
10
जन्माष्टमी से लेकर हर दिन कान्हा का श्रृंगार बदला जाए तो 40 दिन में जीवन में आ रहे सुखद बदलाव को महसूस करेंगे। भगवान श्रीकृष्ण का पूजन त्रिकाल संध्या करना चाहिए।
10
11
कृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर पूजन सामग्री की यह सूची विशेष रूप से तैयार की गई है। कान्हा की विधिवत पूजन से पूर्व आप भी जुटाएं यह समस्त सामग्री...
11
12
12 अगस्त 2020 को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का शुभ पर्व है। इस दिन श्री कृष्ण को प्रिय सामग्री समर्पित करने से कान्हा का विशेष आशीर्वाद मिलता है। आइए जानें वह 10 चीजें क्या है?
12
13
हलछठ पर्व 9 अगस्‍त 2020, रविवार को मनाया जा रहा है। इस दिन महिलाएं संतान प्राप्ति अथवा अपनी संतान की रक्षा के लिए यह व्रत रखती हैं।
13
14
हर साल की तरह जन्माष्टमी का शुभ पर्व मथुरा-वृंदावन और द्वारिका में 12 और जगन्नाथ पुरी में 11 अगस्त को मनाया जाएगा...भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव समूचे देश के लिए हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है...
14
15
प्रतिमाह कृष्ण पक्ष में श्रीगणेश संकष्टी चतुर्थी व्रत किया जाता है। इस दिन भगवान श्रीगणेश को अपनी राशिनुसार प्रसाद चढ़ाने से समस्त कष्ट दूर होकर
15
16
16 अगस्त 2020 की रात्रि 8:45 मिनट पर मंगल गोचरवश अपनी राशि परिवर्तन कर अपनी स्वराशि मेष में प्रवेश करेंगे। सामान्यत: मंगल 57 दिनों में अपनी राशि बदलते हैं।
16
17
29 साल बाद श्रावण पूर्णिमा पर सावन के अंतिम सोमवार को रक्षाबंधन का पर्व कई शुभ योग व नक्षत्रों के संयोग में 3 अगस्त को मनाया जा रहा है। इस दिन भाइयों की कलाई पर बहनें राखी बांधकर उनसे रक्षा का वचन लेंगी।
17
18
इस बार रक्षाबंधन का मुहूर्त बेहद विशेष है। ऐसा मुहूर्त 29 वर्षों बाद आया है। आइए जानते हैं इस बार रक्षाबंधन पर क्या खास संयोग बन रहे हैं...
18
19
इस बार रक्षाबंधन के अवसर पर सर्वार्थ सिद्धि व दीर्घायु आयुष्मान योग बन रहा है। साथ ही इस बार भद्रा और ग्रहण का भी रक्षाबंधन पर कोई साया नहीं है।
19