लाल किताब राशिफल 2021 : तुला राशि के लिए कैसा रहेगा अगला वर्ष

tula rashifal 2021 in lal kitab
वर्ष 2020 तो दुनियाभर के लोगों को दु:ख करने वाला सिद्ध हुआ, परंतु अब लोगों को नए वर्ष से बहुत आशा है। हालात सामान्य होंगे और लोग फिर से पहले की तरह जीने लगेंगे। उम्मीदों से भरे इस वर्ष में लाल किताब के अनुसार किस राशि के लिए कैसा रहेगा यह वर्ष इस बारे में बहुत ही संक्षिप्त रूप से जानिए तुला राशि के बारे में।
ALSO READ:

लाल किताब राशिफल 2021 : वृश्चिक राशि के लिए कैसा रहेगा अगला वर्ष
तुला राशि :
1. तुला राशि वालों के लिए यह वर्ष उनकी मेहनत का फाल प्राप्त करने वाला सिद्ध होगा, जिससे आप अपनी इच्छाओं की पूर्ति कर सकेंगे। आप इस वर्ष घर खरीद सकते हैं या उसका निर्माण करने का सोच सकते हैं। पैतृक संपत्ति से भी लाभ मिलने के योग बनेंगे। आप अपने ज्ञान का उचित उपयोग करते हुए दूसरों से सहयोग प्राप्त करके सफल हो सकते हैं। इसलिए लोगों से संबंध बनाकर रखें।
2. वर्ष का पहला माह सबसे अच्छा साबित तब होगा जब आप आप अपनी पूर्व की अधूरी पड़ी हर योजनाओं को पूरा कर लेंगे। इसके बाद फरवरी और मार्च उत्तम होगा और आपको यात्राएं करने का अवसर प्राप्त होगा। इस दौरान आप धन अर्जित कर सकते हैं। भाई-बहन और माता पिता का सहयोग मिलेगा जिससे आर्थिक लाभ मिलने की संभावना है।
3. मार्च से अप्रैल के बीच आपको अपनी सेहत का ध्यान रखना होगा, क्योंकि इस दौरान आपमें चटपटा और तला-भुना या अधिक मसालेदार भोजन करने की लालसा जागेगी। इससे कुछ समस्याएं होने का खतरा रहेगा। ऐसे में उत्तम भोजन को ही अपनाएं।

4. अप्रैल से सितंबर के बीच दांपत्य जीवन और परिवार में खुशियां आएंगी और आपका मन दान-पुण्य के कामों में भी अधिक लगेगा, जिससे समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। छात्रों के लिए भी यह समय तभी उत्तम साबित होगा जबकि वह कड़ी मेहनत करेंगे। इससे शिक्षा में अच्छे परिणाम प्राप्त कर सकेंगे।
5. 6 सितंबर से 2 अक्टूबर के बीच आपकी राशि के स्वामी शुक्र आपकी ही राशि में विराजमान होंगे तब इसके सकारात्मक परिणाम मिलेंगे। यह समय सबसे अधिक महत्वपूर्ण रहेगा और आप सफलता प्राप्त करेंगे। वर्ष के अंतिम महीनों में, कई अनुकूल ग्रहों का गोचर भी होगा। जिससे आपको कार्यक्षेत्र से जुड़ी कुछ यात्राएं करनी पड़ सकती है।
6. वर्ष को और भी बेहतर बनाने के लिए आप आप सरसों का तेल शरीर पर लगाने से परहेज करें। किसी भी प्रकार के विवाद में ना पड़ें। चांदी या तांबे के गिलास में ही पानी पीएं। दांपत्य जीवन को महत्व दें और प्रतिदिन मंदिर जाकर दीपक जलाएं। गरीबों को भोजन कराएं और हमेशा साफ सुधरे बने रहें।



और भी पढ़ें :