शेयर बाजार में स्थिरता

सबकी नजर इंफोसिस के नतीजों पर

मुंबई| भाषा|
कंपनियों के तिमाही नतीजों की घोषणा से पहले निवेशकों द्वारा सतर्कता बरतने से उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में प्रमुख शेयर सूचकांक करीब-करीब कल के स्तर पर स्थिर रहे।


बांबे स्टॉक एक्सचेंज का तीस शेयरों वाला 16,244.70 व 16,127.77 अंक के दायरे में घूमने के बाद 10.77 अंक की नाम मात्र की बढ़त के साथ 16,175.86 अंक पर बंद हुआ। कल सेंसेक्स 350 अंक लाभ के साथ बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 11.40 अंक मजबूत होकर 4,860.95 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 4,877.20 के स्तर पर ऊपर और 4,841.60 के स्तर तक नीचे आया।

ब्रोकरों ने कहा कि तिमाही नतीजों से पहले बाजार की धारणा सतर्कता भरी रही। कल आईटी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी इंफोसिस इस मौसम में तिमाही नतीजों की घोषणा के सिलसिले की शुरुआत करेगी। यद्यपि रुपया में नरमी से इंफोसिस का मुनाफा बढ़ने की उम्मीद है, लेकिन विकसित देशों में आर्थिक संकट को लेकर निवेशकों के बीच चिंता भी है।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा एकल-ब्रांड खुदरा क्षेत्र में 100 प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की अनुमति अधिसूचित किए जाने से पैंटालून, शापर स्टाप, ट्रेंट, वी2 रिटेल एवं कुटोन्स रिटेल जैसी खुदरा क्षेत्र की कंपनियों के शेयरों में तेजी आई जिससे बाजार की धारणा का बल मिला।

सेंसेक्स में शामिल 30 में 16 कंपनियों के शेयर बढ़त के साथ बंद हुए, जबकि 14 कंपनियों के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई। आज सबसे अधिक नुकसान सॉफ्टवेयर निर्यातक फर्म टीसीएस को हुआ जिसका शेयर 2.54 प्रतिशत टूट गया, जबकि इंफोसिस में 1.29 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।
सेंसेक्स के अन्य शेयरों में हालांकि, आरआईएल 1.80 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई। इसके अलावा, हिंडाल्को, टाटा स्टील, स्टरलाइट, एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक के शेयरों में भी निवेशकों ने दिलचस्पी दिखाई।

अन्य शेयरों में जिंदल स्टील 2.16 प्रतिशत, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा 1.60 प्रतिशत, भारती एयरटेल 1.54 प्रतिशत और सिप्ला 1.53 प्रतिशत टूटकर बंद हुआ। (भाषा)



और भी पढ़ें :