नेता नहीं सुपरमैन, बचाई सात लोगों की जान

शिमोगा (कर्नाटक)| भाषा|
शिमोगा (कर्नाटक)। के शिक्षा मंत्री किम्माने रत्नाकर उस समय सुपर हीरो बन गए जब उन्होंने तालाब में डूब रहे एक परिवार के सात लोगों को बचाने के लिए नदी में छलांग लगा दी।


प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षामंत्री के रत्नाकर मंगलवार को अपनी सरकारी गाड़ी से अपने गृह शहर तीर्थाहल्ली से बेंगलुरु लौट रहे थे। उनकी गाड़ी के साथ की भी एक गाड़ी चल रही थी। रास्ते में दोनों गाड़ियों को पीछे छोड़ते हुए एक कार आगे निकल गई।
रत्नाकर ने बताया कि आगे जाकर वही कार एक तालाब में गिर गई। कार की खिड़की से उन्होंने एक व्यक्ति को हाथ निकालकर मदद मांगते देखा। इस पर उन्होंने अपनी गाड़ी रोक दी। कार में एक साल का एक बच्चा और 2 महिलाएं समेत कुल 7 लोग सवार थे।


उन्होंने कहा कि उनका ड्राइवर के. चंद्रू तालाब में कूद गया और दोनों महिलाओं को सुरक्षित किनारे तक पहुंचा दिया। इस बीच वहां जुटे अन्य लोगों ने कार में सवार बाकी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला।

मंत्री मामूली रूप से घायल सभी 7 लोगों को तीर्थाहल्ली ले गए और वहां के राजकीय अस्पताल में उनकी प्राथमिक चिकित्सा कराई। (भाषा)



और भी पढ़ें :