मानसून कोंकण और गोवा पहुँचा

मुंबई (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित रविवार, 7 जून 2009 (22:52 IST)
हमें फॉलो करें
और गोवा क्षेत्र की ओर बढ़ गया है, जहाँ भारी हो रही है। यह जानकारी आज भारतीय (आईएमडी) ने दी।


आईएमडी ने कहा कि अनुकूल परिस्थितियों के साथ दक्षिण-पश्चिम मानसून रविवार को कर्नाटक के कुछ हिस्सों पूरे गोवा और कोंकण के कुछ इलाकों की ओर बढ़ गया है।

मौसम विज्ञानियों ने इससे पहले भविष्यवाणी की थी कि बारिश सामान्य समय से दो दिन पहले पाँच जून को गोवा और सात या आठ जून को मुंबई में होगी, लेकिन आइला चक्रवात ने सभी भविष्यवाणियों को झुठला दिया।

दक्षिण पश्चिम मानसून समय से एक हफ्ते पहले 20 मई को अंडमान निकोबार द्वीपसमूह और 23 मई को केरल पहुँचा, लेकिन पश्चिम बंगाल में आइला चक्रवात के कारण यह धीमा पड़ गया। चक्रवात के कारण पूर्वी और उत्तर पूर्वी हिस्सों में पिछले हफ्ते अच्छी बारिश हुई।


जून से सितंबर तक की मानसूनी बारिश का कृषि आधारित अर्थव्यवस्था पर अच्छा प्रभाव पड़ता है क्योंकि दो तिहाई भारतीय आजीविका के लिए कृषि और आधारित व्यवसाय पर निर्भर हैं। समय से बारिश होने पर धान और अन्य फसलों की अच्छी पैदावार होती है। बारिश से गन्ने की खेती में भी सहायता मिलती है।



और भी पढ़ें :