गुर्दा बेचने वाले डॉक्टर की संपत्ति कुर्क

लखनऊ से अरविन्द शुक्ला| WD|
जनपद मऊ की एक महिला को पथरी के ऑपरेशन कर उसका गुर्दा निकालने वाले एक डॉक्टर की 20 लाख रुपए की सम्पत्ति कुर्क करने के आदेश जिला मजिस्ट्रेट ने दिए।


कामरान पुत्र मकबूल, निवासी ग्राम मंसूरपुर, जनपद मऊ ने वर्ष 1988 में शासकीय तिब्बी कालेज, पटना से बीयूएमएस की डिग्री प्राप्त कर और उत्तरप्रदेश मेडिकल एसोसिएशन से अपना पंजीकरण कराकर अपने घर पर सामान्य घरेलू चिकित्सक के रूप में इलाज आरम्भ किया। कालान्तर में यह सहारा नर्सिंग होम के नाम से अस्पताल भी संचालित करने लगा।

इसी क्रम में इस डॉक्टर ने अपने गिरोह के सदस्यों की मदद से 31 अगस्त, 2007 को श्रीमती हसीना खातून पत्नी अब्दुल अजीज निवासी मुंसीपुरा, थाना कोतवाली मऊ को पथरी का ऑपरेशन करने के बहाने भर्ती कर लिया तथा उसका ऑपरेशन करके एक गुर्दा निकाल लिया एवं उसकी तस्करी करके अवैध धन अर्जित किया था।

विकलांगों को भूतल पर मकान मिलेगा : कांशीराम शहरी गरीब आवास योजना के अन्तर्गत आवास में निराश्रित विधवाओं, निराश्रित विकलांगों एवं गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों के मध्य 23 प्रतिशत, पिछड़े वर्गों के लोगों के मध्य 27 प्रतिशत तथा 50 प्रतिशत भवन सामान्य श्रेणी के लोगों के लिए आरक्षित होंगे। विकलांगों को आवास आवश्यक रूप से ग्राउंड फ्लोर पर ही आवंटित किए जाएँगे।

नदियों का जलस्तर बढ़ा : प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में हुई वर्षा से जहाँ गोमती, शारदा के जल स्तर में वृद्धि हो रही है, वहीं गंगा, राप्ती व घाघरा नदियों का जल स्तर कई स्थानों पर स्थिर बना हुआ है। घाघरा नदी का जलस्तर चाँदपुर में खतरे के निशान से ऊपर है। वहीं गंगा नदी का जल स्तर गायघाट गेज स्थल पर खतरे के निशान से ऊपर है।



और भी पढ़ें :