जम्मू-कश्मीर में हिमस्खलन, 11 लोगों की मौत

श्रीनगर| भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 12 मार्च 2014 (14:52 IST)
PTI
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में मार्च के महीने में अप्रत्याशित रूप से हुई बर्फबारी से के कारण सेना के 2 जवान सहित कम से कम 11 लोग मारे गए और 100 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित निकाला गया है। भारी बर्फबारी के कारण दर्जनभर घर के अलावा 150 से ज्यादा ढांचे क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

पुलिस ने बुधवार को बताया कि लद्दाख क्षेत्र के कारगिल सेक्टर में शिविर के हिमस्खलन की चपेट में आने के कारण 2 सैन्यकर्मी, 82वीं फिल्ड रेजीमेंट के नायक विजय प्रसाद और धर्मेंद्र सिंह की मौत हो गई। दोनों कर्मियों के शवों को बरामद कर लिया गया है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि बुधवार तड़के दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के दमहल हांजीपुरा इलाके के पैसेरन-द्रागदुन गांव में दो घरों के हिमस्खलन की चपेट में आने के कारण 4 लोग मारे गए।
अधिकारी ने बताया कि काजीगुंड इलाके के मिमीगाम गांव में भारी बर्फबारी की वजह से छत गिरने के कारण 48 वर्षीय 1 महिला की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि कारगिल सेक्टर के कालसार में हिमस्खलन की चपेट में आकर 3 नेपाली श्रमिकों की मौत हो गई।

मंगलवार रात दक्षिण शोपियां जिले के कांसू गांव में बर्फ के वजन से घर के ढहने के कारण एक 60 वर्षीय महिला की मौत हो गई।
अधिकारियों के अनुसार प्रशासन बुधवार सुबह तक केवल अस्पतालों में बिजली आपूर्ति बहाल कर पाया। स्थानीय प्रशासन बुधवार को सुबह में मुख्य सड़कों से बर्फ हटाने में सफल रहा लेकिन गलियों और संकरी गलियों में अब भी बर्फ की चादर जमी रहने के कारण लोग अपने घरों में ही कैद हैं।


विद्यालय एवं अन्य शैक्षणिक संस्थान हिमपात के कारण सोमवार से बंद हैं। हिमपात से 150 से अधिक मकानों और अन्य भवनों को नुकसान पहुंचा है। अधिकारियों का कहना है कि उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा पर सबसे बुरा असर पड़ा है और नुकसान अब तक की खबर से कहीं ज्यादा हुआ।
इसी बीच प्रशासन ने ऊंचाई वाले हिस्सों के लिए हिमस्खलन की चेतावनी जारी की और वहां के लोगों को तीखी ढलान पर नहीं जाने की सलाह दी।

एक सरकारी प्रवक्ता ने मंगलवार को कहा कि एसएएसई, जम्मू-कश्मीर राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने गुलमर्ग सेक्टर के तंगमार्ग और खिलानमार्ग, उत्तर कश्मीर के बारामूला, कुपवाड़ा ओर बांदीपुरा जिलों के ऊंचाई वाले इलाकों तथा लद्दाख में सीमावर्ती कारगिल के लिए अधिक खतरा वाले हिमस्खलन की चेतावनी जारी की है।
उन्होंने कहा कि जम्मू के बनिहाल, रामबन, डोडा, किश्तवाड़, पुंछ और राजौरी, दक्षिण कश्मीर के पुलवामा और कुलगाम तथा तथा मध्य कश्मीर के बडगाम एवं गंदरबल जिलों के लिए भी मध्य खतरे वाले हिमस्खलन की चेतावनी जारी की गई है।

प्रवक्ता ने कहा कि इन क्षेत्रों के लोगों से एहतियात बरतने और तीखी ढलानों पर नहीं जाने का अनुरोध किया गया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :