निजी कॉलेजों में बीई की पढ़ाई और महँगी

भोपाल | ND| पुनः संशोधित बुधवार, 13 अगस्त 2008 (09:13 IST)
मध्‍य-प्रदेश के निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों से बीई करना अब छात्रों को और महँगा पड़ेगा। सत्र 2008-09 में बीई पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने वाले छात्रों को 2 हजार से लेकर 5 हजार तक अधिक फीस देनी होगी।

प्रवेश एवं शुल्क निर्धारण विनियामक समिति ने निजी क्षेत्र के इंजीनियरिंग कॉलेजों के लिए बीई पाठ्यक्रम की फीस घोषित कर दी है। कॉलेजों के इंफ्रास्ट्रक्चर के अनुसार सत्र 2008-09 में प्रवेश लेने वाले छात्रों को 36 हजार 300 से लेकर 55 हजार तक फीस देनी होगी।

समिति ने 105 निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों में से 29 की फीस 36 से लेकर 40 हजार, 32 की 40 से 50, 12 की 50 से 55 तथा 32 की 55 हजार रुपए तक निर्धारित की है। सत्र 2007-08 के मुकाबले यह फीस 2 हजार से लेकर 5 हजार अधिक है।
हालाँकि संस्थान छात्रों से हॉस्टल, मेस, यातायात तथा ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट जैसी सुविधाओं की फीस ले सकते हैं, लेकिन इनके लिए संस्थान को अलग से रिकॉर्ड बनाना होगा। संस्थान द्वारा दी जाने वाली यह सारी सुविधाएँ बिना लाभ-हानि के आधार पर होंगी।

अतिरिक्त शुल्क लेने पर संस्थान को या तो छात्र को लौटाना होगा या फिर अगले सत्र में समायोजित करना होगा। इसमें भी ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट के नाम पर छात्रों से जबरन फीस नहीं वसूली जा सकेगी। केवल उन्हीं छात्रों से इसकी फीस लेनी होगी जो केंपस की सुविधा लेना चाहते हैं। वो भी केवल तीसरे वर्ष या उसके ऊपर के ही छात्रों से लेना होगा।
समिति के ओएसडी सुनील कुमार के अनुसार बीई की फीस के बाद समिति कल 13 अगस्त को एमबीए व एमसीए की तथा 14 अगस्त को फार्मेसी की भी फीस घोषित कर देगी। (नईदुनिया)



और भी पढ़ें :