राहुल गाँधी भोला सा बच्चा-अरुण शौरी

इंदौर (भाषा)| भाषा|
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण शौरी ने शनिवार को दल के नए चेहरे वरुण गाँधी की सराहना करते हुए कहा कि उनकी जनता से जुड़े मुद्दों पर गहरी पकड़ है।

शौरी ने कांग्रेस महासचिव और वरुण के चचेरे भाई राहुल गाँधी को भोला सा बच्चा करार दिया और कहा कि सौ करोड़ से ज्यादा लोगों के देश की कमान किसी को यूँ ही नहीं सौंपी जा सकती।

उन्होंने कहा वैसे राहुल एक सभ्य व्यक्ति हैं, मगर परमाणु करार, चीन और आईएसआई जैसे विषयों पर उनके अध्ययन व रुख के आला स्तर का अब तक पता नहीं चल सका है।
भाजपा के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने यहाँ आए वरिष्ठ पत्रकार ने मीडिया से कहा कि उन्हें वरुण को राहुल के मुकाबले ज्यादा करीब से जानने का मौका मिला है। वरुण को जनता से जुड़े मुद्दों की गहरी समझ है।

गौरतलब है कि कथित मुस्लिम विरोधी भाषण के विवाद के बाद वरुण को भाजपा में उग्र हिंदुत्व के नए अवतार के रूप में देखा जा रहा है।
बहरहाल, शौरी बतौर पत्रकार यह दरख्वास्त करने से नहीं चूके कि नेताओं को अलग-अलग मुद्दों पर उनकी समझ और रुख के पैमाने पर तौला जाना चाहिए।

से पहले भाजपा की राम मंदिर मुद्दे पर वापसी के बीच शौरी ने एक सवाल पर कहा पिछले साठ साल के दौरान देश में दो बड़ी भूलें सुधारी गईं। पहली समाजवाद को छोड़कर आर्थिक सुधार का रास्ता अपनाना और दूसरा छद्म धर्मनिरपेक्षतावाद को बेपरदा करना।
उन्होंने कहा कि पहली भूल तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव के कारण ठीक हुई और दूसरी भाजपा के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी की रथयात्रा की वजह से। शौरी ने खारिज किया कि राम मंदिर मुद्दे पर भाजपा असमजंस की शिकार रही है।

उन्होंने कहा भाजपा का रुख अब भी वही है कि राम मंदिर का मसला आपसी संवाद या अदालती आदेश या संसद में पारित कानून से हल होगा।
शौरी ने कांग्रेसनीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार को आर्थिक मोर्चे पर नाकाम करार दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा की अगुआई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के पास मंदी और महँगाई पर बेहतर रणनीति है।



और भी पढ़ें :