बीम मोबाइल वित्तीय सेवा चली गांव की ओर

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 2 जून 2011 (16:48 IST)
बैंक से जुड़े और बैंकिंग दायरे से बाहर रहने वाले लोगों को मोबाइल फोन पर वित्तीय सेवा प्रदान करने वाली कंपनी बीम मोबाइल इंफ्रास्ट्रक्चर का दावा है कि वह दो साल से भी कम समय में 50 लाख ग्राहक बना चुकी है।


नवंबर 2009 में भारतीय रिजर्व बैंक से मंजूरी प्रमाण पत्र करने के उपरांत बीम बेहतर काम कर रही है। बैंक खाता नहीं रखने वाले लोग बीम के प्रीपेड कार्ड के जरिए बीम सब्सक्राइबर खाते में पैसा जमा कर लेन-देन का काम कर सकते हैं। यह सेवा एक रुपए से 10000 रुपए तक की सीमा में उपलब्ध है।

कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक आनंद श्रीवास्तव ने कहा कि बीम फिलहाल देश के 27000 गांवों में अपनी सेवा दे रही है।

उन्होंने कहा कि हमारी योजना 2013 तक सभी गांवों को अपने दायरे में लाने की है। हमें उम्मीद है इस दौरान हमारे ग्राहकों की संख्या में 2.5 करोड़ लोगों की बढ़ोतरी होगी।


उन्होंने कहा कि इसके जरिए मोबाइल, डीटीएच रिचार्ज कराया जा सकता है और यात्रा टिकट समेत अनेक बिलों का भुगतान किया जा सकता है। (भाषा)



और भी पढ़ें :