वेतन में 7.25 फीसदी वृद्धि का अनुमान

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा|
वैश्विक मंदी का असर भारत में कर्मचारियों के वेतन लाभ और नौकरी की संभावनाओं पर भी पड़ रहा है। इस साल वेतन में 7.25 फीसदी की बढ़ोतरी होने की संभावना है जबकि इससे पिछले वर्षों में दोहरे अंक की बढ़ोतरी दर्ज की गई थी।


ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि कुल मिलाकर भारत की तस्वीर अच्छी नहीं है। अब बड़ी संख्या में संगठन वेतनवृद्धि पर रोक लगा रहे हैं। पिछले कुछ साल से वेतन में दोहरे अंक की बढ़ोतरी के बाद इस साल 7.25 फीसदी वृद्धि होने का अनुमान है।
रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारतीय कंपनियों के लिए अभी भी सबसे बड़ी चिंता कुशल कामगार को आकर्षित करना और उन्हें बनाए रखने को लेकर है। इसका आशय है कि भारतीय कंपनियाँ बेहतर प्रदर्शन करने और उच्च संभावना वाले कर्मचारियों के प्रतिस्पर्द्धात्मक वेतन के लिए निवेश करना जारी रखेंगी।

बहरहाल रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कामकाज के माहौल के विकास के लिए और रचनात्मक होने की जरूरत है। उल्लेखनीय है कि भारत और चीन जैसे तेजी से वृद्धि करने वाले देशों में पिछले कुछ साल में वेतन में बढ़ोतरी तेजी से हुई है लेकिन अब इन देशों में वेतन में वर्ष 2007 के स्तर की बढ़ोतरी से आधे से भी कम वृद्धि होने की संभावना जताई जा रही है।



और भी पढ़ें :