सिरदर्द गरबा का, इलाज घर का

WD|
ND
गरबा के तेज शोर-शराबे से सिर में तेज दर्द होने लगता है। ऐसे में धनिया और आँवले का बारीक पिसा चूर्ण 100-100 ग्राम मिला कर तीन बार छानकर एक जान कर लें। रात को 2 चम्मच चूर्ण ‍एक गिलास पानी में डाल कर रख दें।


सुबह मसल छानकर एक चम्मच पिसी मिश्री मिलाकर खाली पेट पी लें। इस प्रयोग से आश्विन मास की गर्मी में होने वाला अथवा गरबा से होने वाला सिरदर्द ठीक हो जाता है।

बिस्तर पर लेटकर गर्दन पाटी से बाहर लटका दें और सिर के जिस भाग में दर्द होता हो, नाक के उस भाग की तरफ वाले नथुने में सरसों के तेल की दो बूँद टपकाकर दूसरी तरफ की नाक को दबाकर जोर से साँस खींचें, ताकि तेल ऊपर चढ़ जाए। 2-3 दिन यह प्रयोग करने से दर्द हमेशा के लिए चला जाता है।

इस प्रयोग से सर्दी जुकाम भी ठीक हो जाता है। आधासीसी में लेंडी पीपल 10 ग्राम कपड़छान कर पाँच पुड़िया बना लें। प्रातःकाल 50 ग्राम कलाकंद के साथ सेवन करें, फिर सो जाएँ, पानी न पिएँ । शुद्ध घी में 4-5 काली मिर्च रोज तलकर सेवन करें।



और भी पढ़ें :