न्‍यूजीलैंड में पढ़ाई

study
NDND
न्यूजीलैंड का शैक्षणिक ढाँचा त्रिस्तरीय है। यहाँ की स्कूली पढ़ाई पाँच वर्ष की आयु से आरंभ होकर शिक्षार्थी के वयस्क होने तक अर्थात्‌ अठारह वर्ष की आयु तक जारी रहती है। न्यूजीलैंड का शालेय पाठ्यक्रम तेरह वर्षीय होता है।

सबसे अच्छी बात यह है कि न्यूजीलैंड में पाँच से पंद्रह वर्ष की आयु वालों के लिए शिक्षा निःशुल्क और अनिवार्य है। शालेय पढ़ाई पूर्ण कर छात्र सेकंडरी स्कूल की पढ़ाई करता है और विश्वविद्यालयीन शिक्षा आरंभ होती है।

स्कूली शिक्षा का ढाँचा
न्यूजीलैंड में शिक्षा निःशुल्क है तथा 5 से 15 वर्ष के छात्रों के लिए अनिवार्य भी है, लेकिन इसका यह मतलब कदापि नहीं लगाया जाना चाहिए कि न्यूजीलैंड में शालेय शिक्षा सरकार द्वारा ही चलाई जाती है। यहाँ के प्राथमिक विद्यालयों को सरकार अथवा निजी शैक्षणिक संस्थानों द्वारा संचालित किया जाता है। निजी स्कूलों की बागडोर आमतौर पर चर्च के हाथ में होती है।

न्यूजीलैंड के सेकण्डरी स्कूलों में औपचारिक शिक्षा के अंतिम पाँच वर्षों की शिक्षा प्रदान की जाती है। यहाँ विद्यार्थियों को विश्वविद्यालयीन शिक्षा अथवा व्यावसायिक प्रशिक्षण हेतु तैयार किया जाता है। सामान्यतः 13 से 18 वर्ष की आयु के छात्र सेकण्डरी स्कूलों में पढ़ाई करते हैं।

सेकण्डरी शिक्षा का ढाँचा
न्यूजीलैंड में कक्षाओं को फार्म कहा जाता है। इस आधार पर यहाँ फार्म 3 से 7 तक की पढ़ाई सेकण्डरी शिक्षा के अंतर्गत आती है। इस शिक्षा में छात्र 13 वर्ष की उम्र में प्रवेश लेते हैं। सेकण्डरी स्कूल का पाठ्यक्रम शिक्षा मंत्रालय द्वारा निर्धारित किया जाता है।

फार्म तीन तथा चार में छात्रों को अंग्रेजी, विज्ञान, गणित, सामाजिक विज्ञान के साथ-साथ कला कौशल तथा शारीरिक शिक्षा भी प्रदान की जाती है। फार्म पाँच के छात्र अंग्रेजी, गणित तथा विज्ञान विषयों को अनिवार्य रूप से पढ़ते हैं, जबकि इन्हें अन्य विषयों का चयन कला, वाणिज्य, भाषा तथा तकनीकी विषयों से करना होता है।

WD|
यहाँ का फार्म 5 भारतीय विद्यालयों की दसवीं के समकक्ष होता है। परीक्षा में छात्रों को कम से कम 6 विषय लेने होते हैं तथा सफल होने पर उन्हें फार्म 6 में प्रवेश मिलता है।फार्म 6 में 6 अनिवार्य विषयों के अलावा छात्रों को अंग्रेजी, गणित, विज्ञान, वाणिज्य तथा अर्थशास्त्र में से अपने पसंदीदा विषय चुनने होते हैं।

सम्बंधित जानकारी


और भी पढ़ें :