धृतराष्ट्र और गांधारी

ND
उसे बताया नहीं गया था कि उसका पति अंधा है। वे गांधार की राजकुमारी थीं और उनके साथ उनका भाई शकुनि और आयु में बड़ी उनकी एक सखी भी हस्तिनापुर आई थीं। यह सखी उसे हस्तिनापुर साम्राज्य के वैभव के बारे में बताती है और गांधारी अवाक्‌ रह जाती है। तभी उसकी सखी महल देखने के बाद आकर कहती है-तुम्हारे साथ धोखा हुआ है। हमारे साथ धोखा हुआ है। तुम्हारा पति तो पैदा ही अंधा हुआ था।

एक क्षण को गांधारी को कुछ भी समझ में नहीं आता। दूसरे ही क्षण वह जमीन पर गिरकर बेहोश हो जाती है। फिर वह जीवन भर के लिए अपनी आँखों पर पट्टी बाँध लेती है। यह उसका क्रोध है। प्रतिकार है। उसके द्वारा अपने पति को दी गई सजा है।

हस्तिनापुर के सामने गांधार कुछ भी नहीं था। ऐसे में एक स्त्री अपना गुस्सा और किस तरह व्यक्त करती और उसका भाई इसका बदला लेने के लिए वहीं क्यों नहीं रुक जाता-अपनी बहन के साथ हुए षड्यंत्र के खिलाफ कुरु वंश का नामोनिशान मिटाने के लिए आजीवन षड्यंत्र के निमित्त!

हो चुका है। धृतराष्ट्र, गांधारी, कुंती और विदुर वन में आकर रहने लगे हैं। गांधारी ठंडी आहें भर रही हैं। धृतराष्ट्र कहता है-अब ठंडी आहें भरने से क्या फायदा? हमारा जीवन वैसा ही है जो दो अंधों का हो सकता है।

गांधारी कहती हैं : मैं अपने दुःख में आहें नहीं भर रही हूँ। जब से हम यहाँ आए हैं ये पहाड़, ये पाँवों के नीचे फैली घास की नोकें, ये देवदार के वृक्षों की महक, यह बहती समीर, नदी का लगातार कलकल करना, मुझे गांधार की याद दिला रहा है और बिना इस सबको पहचाने मेरी आह निकल गई।

धृतराष्ट्र कहता है :गांधारी, एक अंधे के साथ विवाह करने की वजह से तुम्हारा जीवन बर्बाद हो गया। सारी जिंदगी तुम अपने पिता के घर की लालसा करती रहीं।

गांधारी कहती हैं कि जिस दिन मेरा विवाह हुआ, उसी दिन से मैंने अपने पिता के घर के बारे में आने वाले विचारों को दबाना शुरू कर दिया। मैंने एक साथ रहते हुए कभी शकुनि से भी बात नहीं की। आज मुझे गांधार की ऐसे ही याद आ गई, वहाँ के लोगों की नहीं।

ND|
-मधुसूदन आनंद जो लोग यह समझते हैं कि "महाभारत" की एक अमर पात्र गांधारी ने अपने अंधे पति के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए अपनी आँखों पर पट्टी बाँध ली थी, वे शायद स्त्री मनोविज्ञान को पूरी तरह नहीं समझते। गांधारी के साथ छल हुआ था।
थोड़ी देर को मौन फैल जाता है। फिर धृतराष्ट्र कहता हैः "तुम्हारे साथ धोखा हुआ। मेरे बारे में बताए बिना तुम्हारी शादी कर दी गई। हमने तुम्हारे साथ हजारों गलतियाँ कीं। क्या तुम उन्हें भुला दोगी और हमें माफ करोगी?"



और भी पढ़ें :