0

अक्षय तृतीया आज: ये 7 प्रयोग देंगे धन का मनचाहा वरदान

रविवार,अप्रैल 26, 2020
0
1
अक्षय तृतीया इस बार 26 अप्रैल 2020 को है लेकिन इस दौरान भारत में लॉकडाउन रहेगा। आइए जानिए सबसे अच्छे मुहूर्त...
1
2
अक्षय तृतीया का पर्व हर साल वैशाख शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। ग्रामिण क्षेत्रों में इसे आखातीज या अक्खा तीज कहते हैं। इस वर्ष अक्षय तृतीया तिथि 26 अप्रैल, रविवार को पड़ रही है। इस साल की अक्षय तृतीया कई मयानों में विशेष रहने वाली है। ...
2
3
अक्षय तृतीया’ के रूप में प्रख्यात वैशाख शुक्ल तीज को स्वयं सिद्ध मुहूर्तों में से एक माना जाता है। अध्ययन आरंभ करने के लिए यह सर्वश्रेष्ठ दिन है।
3
4
अक्षय तृतीया का पर्व हर साल वैशाख शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। यह व्रत गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश सहित पूरे उत्तर भारत में मनाया जाता है। ग्रामिण क्षेत्रों में इसे आखातीज या अक्खा तीज कहते हैं। आओ जानते हैं इसके महत्व ...
4
4
5
लॉक डाउन के कारण अगर आप सोना नहीं खरीद सकते हैं तो निराश होने की आवश्यकता नहीं है। आप मात्र 5 रुपए की चीज घर में रखकर भी शुभता प्राप्त कर सकते हैं।
5
6
अक्षय तृतीया वैशाख मास के शुक्‍ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है। इस बार यह 26 अप्रैल को मनाई जा रही है...आइए जानते हैं अक्षय तृतीया के दिन करने वाले कुछ वास्तु के उपाय…
6
7
अक्षय तृतीया के दिन दान को श्रेष्ठ माना गया है। जो लोग इस दिन अपने सौभाग्य को दूसरों के साथ बांटते हैं वे ईश्वर की असीम अनुकंपा पाते हैं। इस दिन दिए गए दान से अक्षय फल की प्राप्ति होती है।
7
8
इस दिन भगवान विष्णु के चरणों से धरती पर गंगा अवतरित हुई। सतयुग, द्वापर व त्रेतायुग के प्रारंभ की गणना इस दिन से होती है।
8
8
9
इस बार अक्षय तृतीया का महापर्व 26 April 2020 को है। आइए जानें 18 ऐसे काम जिनमें से अगर आपने अपनी सुविधा के अनुसार 2 भी कर लिए तो हो जाएंगे मालामाल...
9
10
आखातीज पर दिया गया कुंभ का दान भाग्योदय कारक होगा। अक्षय तृतीया पर जल, मिट्टी और कलश तीनों के अलग-अलग दान का महत्व है इसलिए अगर मिट्टी के कलश में ही जल भरकर दान किया जाए तो एक साथ नवग्रहों की शांति तो होती ही है साथ में तीन शुभ सामग्री के दान का ...
10
11
जिन जातकों की जन्मपत्रिका में 'पितृ-दोष' है वे 'अक्षय-तृतीया' के दिन प्रात:काल किसी स्वच्छ स्थान या मन्दिर में लगे पीपल के ऊपर अपने पितृगणों के निमित्त घर का बना मिष्ठान व एक मटकी में शुद्ध जल रखें।
11
12
अक्षय तृतीया पर कुछ विशेष वस्तुओं का दान करने से मां लक्ष्मी की कृपा साल भर बनी रहती है।
12
13
मां लक्ष्मीजी की उपासना अक्षय तृतीया को शाम के समय उत्तरमुखी होकर लाल आसान पर बैठकर की जाती है। पूजन शुरू करने से पहले एक लाल कपड़े पर लक्ष्मीजी का चित्र स्थापित करके उसके सम्मुख 10 लक्ष्मीकारक कौड़ियां रखें एवं शुद्ध घी का दीपक जला लें।
13
14
अक्षय तृतीया के द‌िन अगर वास्तु की इन 10 में से कोई एक चीज भी रख कर पूजन करें तो वर्ष भर सुख, संपन्नता बनी रहती है, घर के वास्तु दोष खत्म होते हैं, सफलता मिलने लगती है।
14
15
परशुराम जयंती और अक्षय तृतीया के दिन सर्वकामना की सिद्धि हेतु इन मंत्रों का जाप अवश्‍य करना चाहिए।
15
16
भगवान परशुराम की सेवा-साधना करने वाले भक्त को उनका आशीर्वाद अवश्य ही मिलता है। परशुराम जयंती के दिन उनका यह स्तवन का पाठ अवश्य करना चाहिए।
16
17
हिन्दू धर्म में अक्षय तृतीया का खास महत्व है। इस विशेष दिन का सभी लोगों को वर्ष भर इंतजार रहता है। इस बार कोरोना महामारी और लॉक डाउन के चलते जहां हिन्दू
17
18
भगवान विष्णु के छठे आवेश अवतार परशुराम की जयंती वैशाख शुक्ल तृतीया को आती है। इस बार यह जयंती 26 अप्रैल 2020 को मनाई जाएगी। आओ जानते हैं भगवान परशुराम कौन थे और क्या है उनकी कहानी।
18
19
महर्षि ऋचिक के पुत्र जमदग्नि अपनी सहधर्मिणी रेणुका के साथ नर्मदा के निकट पर्वत शिखर पर जमदग्नेय आश्रम (अब जानापाव) में तपस्यारत थे। उन्होंने पराशक्ति का आह्वान किया
19