विश्व हिन्दी सम्मेलन में 'वेबदुनिया' बना आकर्षण का केंद्र

पुनः संशोधित बुधवार, 9 सितम्बर 2015 (18:40 IST)
भोपाल। 10वां विश्व हिन्दी सम्मेलन मध्यप्रदेश की राजधानी में 10 से 12 सितम्बर तक आयोजित किया जा रहा है, जिसकी सारी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। विश्व हिन्दी सम्मेलन में दुनिया के पहले हिन्दी पोर्टल 'वेबदुनिया' का स्टॉल आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। 
सम्मेलन के उद्‍घाटन के पूर्व यहां बड़ी संख्या में जिज्ञासुओं की भीड़ जमा हो रही है। वेबदुनिया के स्टॉल पर बनाए गए सेल्फ़ी पाइंट पर बुधवार को युवाओं की भीड़ लगी रही।
 
भारतीय भाषाओं में सूचना प्रौद्योगिकी के लिए काम करने वाली कंपनी 'वेबदुनिया' की इस स्टॉल में लगाई गई प्रदर्शनी लोगों को विशेष रूप से आकर्षित कर रही है। पहले खंड में 'इंटरनेट पर हिन्दी की विकास यात्रा' में इंटरनेट के भारत में आगमन से लेकर अब इंटरनेट पर हिन्दी को लेकर हुए कामों की एक झलक प्रस्तुत की गई है। 
इस खंड में इंटरनेट पर हिन्दी में हो रहे कामों की जानकारी दी जा रही है। दूसरा खंड 'कंप्यूटर और मोबाइल पर हिन्दी' सूचना प्रौद्योगिकी में हिन्दी को बढ़ावा देने पर केंद्रित है। बुधवार को आगन्तुकों तथा प्रतिनिधियों की जिज्ञासाओं का समाधान किया गया।
 
सनद रहे कि वेबदुनिया की ओर से विश्व हिन्दी सम्मेलन के अवसर पर 'सूचना प्रौद्योगिकी में हिन्दी : जानें, समझें, सीखें' विषय-वस्तु के साथ प्रदर्शनी लगाई गई है।
उल्लेखनीय है कि लोग कंप्यूटर और मोबाइल पर हिन्दी में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी न होने के कारण उनका उपयोग नहीं कर पाते। या यदि जानकारी होती भी है तो वे उनका उपयोग करने में हिचकिचाते हैं या कठिन मानते हैं। वेबदुनिया के इस स्टॉल पर न केवल अतिथियों को कंप्यूटर और मोबाइल पर हिन्दी में अब तक हुए कामों की जानकारी दी जा रही है, बल्कि एक सामान्य उपयोगकर्ता के लिए हिन्दी के सभी उपयोगी उपकरणों और सुविधाओं के बारे में बताया जा रहा है। 
 
वेबदुनिया के स्टॉल पर एक अभ्यास खंड भी तैयार किया गया है जिसमें अतिथियों को कंप्यूटर और मोबाइल पर हिन्दी सक्षम करना और टाइप करना सिखाया जा रहा है। मौजूद विशेषज्ञों की सहायता से अतिथि अपने कंप्यूटर और मोबाइल पर हिन्दी इंटरफेस और हिन्दी टाइपिंग सक्षम करवा सकते हैं। हिन्दी कंप्यूटिंग से जुड़ी उनकी जिज्ञासाओं का समाधान भी विशेषज्ञ कर रहे हैं।
मंगलवार के दिन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आयोजन स्थल पर विश्व के पहले हिन्दी पोर्टल 'वेबदुनिया डॉट कॉम' की प्रदर्शनी का अवलोकन किया था। स्वराज के साथ ही विदेश राज्यमंत्री तथा पूर्व जनरल वीके सिंह, मुख्‍यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, राज्यसभा सांसद अनिल माधव दवे, मप्र के कैबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्र, माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति बीके कुठियाला ने भी 'वेबदुनिया' की प्रदर्शनी का अवलोकन किया था। 
 
'वेबदुनिया' के संपादक जयदीप कर्णिक ने बताया कि 'वेबदुनिया' की स्थापना जन-जन तक सूचना प्रौद्योगिकी पहुंचाने के उद्देश्य से की गई थी तथा यह अभियान लगातार जारी है। 'वेबदुनिया' की प्रदर्शनी का मुख्य उद्देश्य अतिथियों को सूचना प्रौद्योगिकी में हिन्दी के बारे में जागरूक करना और आसानी से इसका उपयोग करने में उनकी सहायता करना है।



और भी पढ़ें :