0

आयशा, तुम मुश्किलों से नहीं,अपनों की बेवफाई से हारी हो...

बुधवार,मार्च 3, 2021
0
1
8 मार्च, महिला दिवस... हर साल की तरह पत्र-पत्रिकाएं अपने विशेषांकों की तैयारी में जुटी थीं, चैनल्स में उस दिन की विशेष प्रस्तुतियों की योजना बन रही थीं, संस्थाएं अपने कार्यक्रमों की रुपरेखा को अंतिम स्वरूप देने में व्यस्त थीं और अचानक साबरमती में ...
1
2
आयशा हारकर नदी की गोद में समा गई। उसकी हार में हम सभी शामिल हैं। समाज, सामाजिक व्यवस्था, घर, परिवार, शिक्षण संस्थाएं, परिवेश, संस्कार .... सभी। वे सभी कारक जो एक लड़की को कोमल, भावुक , सहनशील, मितभाषी, और जाने कितने तथाकथित स्त्री सुलभ लक्षणों और ...
2
3
आज महिला जिम्मेदार तो है साथ ही, कितनी जिम्मेदारी अपने कंधों पर लेना है, यह वे अपनी प्राथमिकता अनुसार तय करती हैं। जितना काम वे अच्छी तरह से निभा सकें
3
4
परलोक यदि होता है..और तुम वहां हो ...तो सुनो...! अगले जन्म में भी बेटी बनकर आना..मजबूत बेटी...और अपनी अम्मी का आंचल समृद्ध करना।
4
4
5
हाथरस में एक पिता अपनी बेटी की अस्मत के लिए लड़ता है और जान से हाथ धो बैठता है और अहमदाबाद में एक पिता अपनी बेटी को मरने से नहीं रोक पाता है और अंतत: खुद जीते जी मर जाता है.... बस एक छपाक की आवाज के साथ....
5
6
नारी तुम जीवन की छाया हो, मोहभरी माया हो। हर पल जो साथ रहे, प्रेमसिक्त साया हो।
6
7
प्रिय आयशा, 8 मार्च से पहले तुम हर स्त्री को स्तब्ध कर गई... मुझे लगा जैसे तुम हर स्त्री को उसके भीतर की स्त्री से मिला गई, हर स्त्री थोड़ा डरी, थोड़ा सचेत हुई और सोचने को मजबूर हुई कि आखिर क्या है एक स्त्री की जिंदगी.... जीवन भर समझौते करती, सहारे ...
7
8
हर युग में नारी बनी, बलिदानों की आन, नारी जीवन से भरी, नारी वृक्ष समान, जीवन का पालन करे, नारी है भगवान।
8
8
9
ये भारतीय पतियों द्वारा अपनी गृहिणी पत्नी को बोला जाने वाला आम जुमला है - "तुम करती क्या हो घर में। बस, खाना बनाना और बच्चों की देखभाल। "मुझे हैरानी के साथ बेहद कोफ़्त होती है ऐसे पतियों की सोच पर। वे ये देखते हुए भी कैसे अनदेखा कर देते हैं कि ...
9
10
प्राचीन काल से ही नारी को नारायणी का दर्जा प्राप्त है परंतु समय के साथ-साथ उसके सम्मान स्थि‍ति और उससे जुड़ी परिस्थि‍तियों में कई परिवर्तन भी आए। महान व्यक्तित्वों द्वारा नारी को लेकर व्यक्त सुविचार आज भी उतने ही सम्मान के साथ अस्तित्व में है। ...
10
11
अहमदाबाद में जन्म लेने वाली 49 वर्षीय केतकी के जीवन में सन् 2010 तक सब कुछ सामान्य था, जैसे सभी का खुशहाल जीवन होता है। पर अचानक से वे 'एलोपेशिया' नाम की बीमारी का शिकार हुईं जिसमें खोपड़ी से बालों के गुच्छे अचानक से गिरने लग जाते हैं, गंजे होने लगते ...
11
12
नारी का सम्मान, बचाना धर्म हमारा, सफल वही इंसान, लगे नारी को प्यारा। जीवन का आधार, हमेशा नारी होती,
12
13
इस सदी की नारी समाज में 'टेक ओवर' करने के रूप में उभरी है। उसने कड़ी मेहनत से बहुत तरक्की की है, पर उसका समाज में सम्मान नहीं बढ़ा। उसके वजूद से जुड़े प्रश्न आज भी उठते हैं। सबकुछ हासिल करने के बाद भी उसका नाम,उसकी तरक्की उसे खोखला महसूस करा जाते हैं। ...
13
14
'अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस' पूरे देश के लिए बहुत महत्व रखता है। इस दिन महिलाओं के विकास, हर जगह महिलाओं की मौजूदगी और उनके साहस को सलाम किया जाता है। मां हो, बहन हो, पत्नी हो या बेटी- जिंदगी के हर मोड़ में नारी मजबूती के साथ आगे बढ़ती रही है....
14
15
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को है। विभिन्न क्षेत्र के प्रबुद्ध जन से पूछा गया कि यह दिवस मनाया जाना चाहिए या नहीं? आखिर क्या है इस दिन की महत्ता? हमें मिले ज्वलंत और जागरूक जवाब। पेश है आपके लिए :
15
16
नमस्कार, महिला दिवस की शुभकामनाएं। आज सबसे ज्यादा महिला सशक्तिकरण की बातें होंगी। लेकिन महिला सशक्तीकरण क्या है यह कोई नहीं जानता। महिला सशक्तीकरण एक विवेकपूर्ण प्रक्रिया है। हमने अति महत्वाकांक्षा को सशक्तिकरण मान लिया है।
16
17
टी.वी. सीरियलों के माध्यम से अपनी बहन, बेटियों, भाभियों यहां तक कि मांओं को भी अश्लील व न के बराबर कपड़ों में, सिगरेट के धुएं के छल्ले बनाते या शराब का गिलास हाथ में थामे लड़खड़ाते, कभी किसी तो कभी किसी पुरुष की बांहों में झूमते देख भला किस भारतीय को ...
17
18
जो महिलाएं नौकरी नहीं करती हैं उन्हें विशेष प्रयास कर पेशेवर क्षमताओं को हासिल करना होगा ताकि वे स्वरोजगार प्राप्त कर सकें। उन्हें कारोबार करना सीखना होगा और इस बात का पता लगाना होगा कि यह काम उन्हें कहां मिल सकता है यह सब उन्हें खुद करना होगा और ...
18
19
रह-रहकर तुम और शहजाद याद आ रहे हों। उर्दू भाषा के राष्ट्रीय सेमिनार के बुलावे में शिरकत कर रही हूं। मंच पर बैठकर सामने उर्दू के विद्वानजन, शोधार्थी, प्रोफेसर्स बैठे हैं और मैं उन्हें देख रही हूं। पर मेरी नजरें तुम्हें खोज रही हैं। लगभग 2 साल से ...
19