क्या चंद्रयान-2 ने स्पेस से भेजी पृथ्वी की ये तस्वीरें...

Last Updated: सोमवार, 29 जुलाई 2019 (14:55 IST)
सोशल मीडिया पर इन दिनों कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जिनके साथ दावा किया जा रहा है कि ये चंद्रमा पर भेजे गए भारत के मिशन द्वारा पहली बार खींची गई तस्वीरें हैं। आउटर स्पेस से खींची गईं कुछ तस्वीरें शेयर कर लिखा जा रहा है- ‘चंद्रयान 2 ने जारी की पहली फोटोज धरती की, आंखों की नक्काशी की तरह दिखती हुई धरती, कितनी अदभुत फोटो’।

वायरल तस्वीरें देखें-




सच क्या है?


वेबदुनिया ने सबसे पहले ISRO के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर चेक किया, लेकिन हमें वहां ऐसी कोई तस्वीर नहीं मिली। ISRO ने 26 जुलाई को चंद्रयान-2 को लेकर ट्वीट किया था। इस ट्वीट के मुताबिक, चंद्रयान-2 को सफलतापूर्वक दूसरी कक्षा में प्रवेश करा दिया गया है।



अब हमने वायरल पांचों तस्वीरों की अलग-अलग जांच करने का फैसला किया।


पहली तस्वीर को जब हमने गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया तो पता चला कि यह तस्वीर साल 2009 में इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS) से अंतरिक्षयात्रियों ने ली थी। यह तस्वीर रूस के कुरील आइलैंड के Sarychev ज्वालामुखी से निकलते हुए धुएं की है।

दूसरी तस्वीर का रिवर्स इमेज सर्च किया तो पता चला कि यह तस्वीर Mike Kiev का एक डिजिटल आर्टवर्क है।


तीसरी तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च करने पर हमें यह तस्वीर फोटो स्टॉक वेबसाइट शटरस्टॉक पर मिली, जिसे इलस्ट्रेटर एलन उस्टर ने पोस्ट किया था। इस तस्वीर के कैप्शन में लिखा है- ‘Planet earth with sunrise and moon in space’।

चौथी तस्वीर को रिवर्स इमेज से ढूंढ़ने पर हमें यह तस्वीर न्यूयॉर्क पोस्ट के 2016 के एक आर्टिकल में मिली। इस तस्वीर का डिस्क्रिप्शन था- ‘संपूर्ण अंटार्कटिक क्षेत्र का वैश्विक दृश्य’ और क्रेडिट नासा को दिया गया था।

पांचवीं तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च करने पर हमें यह तस्वीर NASA की वेबसाइट पर मिली जिसे March 2, 2007 को अपलोड किया गया था। इस फोटो का कैप्शन था- ‘चंद्रमा से सूर्यग्रहण’। इस तस्वीर को इलस्ट्रेटर Hana Gartstein ने बनाया है।

वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि वायरल सभी तस्वीरें पुरानी हैं और इनका चंद्रयान-2 से कोई संबंध नहीं है।


 

और भी पढ़ें :