0

Vastu fengshui : दक्षिणमुखी मकान में रहने के 10 नुकसान

सोमवार,मार्च 16, 2020
south facing home
0
1
आजकल हर घर में मनी प्लांट लगाने का प्रचलन है। मनी प्लांट लगाने के 4 फायदे और 4 नुकसान जानकर आप हो जाएंगे हैरान।
1
2
अध्ययन कक्ष वास्तु के अनुसार बना है तो बच्चों का पढ़ाई में मन भी लगता है और उनमें क्रिएटिविटी का भी विकास होता है। आओ जानते हैं वास्तु के अनुार 10 टिप्स।
2
3
घर की छत कई प्रकार की होती है- सपाट छत, ढालू छत और गोल छत। अधिक वर्षावाले या बर्फबारी वाले क्षेत्रों में प्राय: ढालू छतें ही बनती हैं। इसके अलावा छत के दो मुख्‍य प्राकर ये हैं- आपके रूम के भीतर की छत जहां पंखा आदि लगा होता है और दूसरा वह छत जिसे ...
3
4
तलघर का होना अच्छा और बुरा इस बात पर निर्भर करता है कि वह किसी दिशा और जगह पर है। दूसरी बात यह कि वह किस प्रकार और किस कार्य के लिए है। तीसरी बात कि उसके आसपास क्या-क्या है।
4
4
5
यहां दी गई जानकारी वास्तु और ज्योतिष पर आधारित संक्षिप्त जानकारी है। विस्तार से जानने के लिए किसी ज्योतिष और वास्तुशास्त्री से मिलना चाहिए। इस आलेख को पूर्ण नहीं समझना चाहिए।
5
6
आजकल घर में भारतीय संस्कृति के अनुसार परंपरागत सजावट नहीं की जाती है। पाश्चात्य संस्कृति के चलते कई तरह की नकली सजावट का भी प्रचलन बढ़ गया है। ऐसे में जानिए कि वास्तुशास्त्र के अनुसार कौन सी 5 सजावटी वस्तुएं या कलाकृतियां नुकसान पहुंचा सकती है।
6
7
घर में मिट्टी के पानी भरे घड़े के आगे दीपक लगाने से भी आर्थिक कष्ट दूर होते हैं। घर में मिट्टी की छोटी-छोटी सजावटी मटकियां रखने से रिश्तों में सौंधापन बरकरार रहता है।
7
8
दरवाजे के संबंध में महत्वपूर्ण वास्तु टिप्स आप जानेंगे तो आप कई तरह की कठिनाइयों से बच जाएंगे। आओ जानते हैं दरवाजे के संबंध में महत्वपूर्ण 10 वास्तु टिप्स।
8
8
9
प्राचीन भारत में नगर, ग्राम या मकान बनाने के कुछ वास्तु नियम होते थे। इनके कारण जीवन में धन, समृद्धि और खुशियां बनी रहती थी। हालांकि वर्तमान में इन नियमों को नहीं माना जाता है। बढ़ती आबादी के दबाव या कहें कि पश्चिम के अनुसरण के चलते लोगों ने फ्लैट ...
9
10
रसोईघर अर्थात किचन को वास्तु अनुसार बनाना जरूरी है अन्यथा यह रोग, शोक और धन की बर्बादी का कारण बन सकता है। आओ जानते हैं कि ज्योतिष, वास्तु और हिन्दू शास्त्र रसोईघर की किस दिशा में क्या रखना चाहिए।
10
11
प्राचीनकाल में राजा-महाराजाओं द्वारा अपने महल, वस्त्रों, विभिन्न कक्षों, मुख्य द्वार आदि पर अलग-अलग अवसरों के अनुरूप इत्र एवं सुगंधित तेलों के प्रयोग का वर्णन मिलता है। इसमें कोई संदेह नहीं कि किसी खुशबू विशेष का प्रयोग कर आप अपने आसपास के वातावरण ...
11
12
घर का फर्श बहुत महत्वपूर्ण होता है। इसमें किस तरह की टाइल्स लगाएं और किस रंग की लगाएं यह जरूरी है। ऐसी टाइल्स न लगाएं जो गर्मी के लिए तो उत्तम हो लेकिन ठंड में अत्यधिक ठंडी हो। फर्श वास्तु अनुसार होना चाहिए।
12
13
घर की किस दिशा में कौनसा वृक्ष, पेड़ या पौधा लगाना चाहिए और कौनसा नहीं यह जानना जरूरी है। यदि घर के आसपास नकारात्मक वृक्ष लगे हैं तो उससे जीवन में परेशानिया खड़ी होती है। आओ जानते हैं वृक्ष के वास्तु नियम।
13
14
वास्तु शास्त्र के अनुसार आप जहां रहते हैं उस स्थान से ही आपका भविष्य तय होता है। यदि आप गलत जगह रह रहे हैं तो अच्छे भविष्य की आशा मत कीजिए। अत: हर व्यक्ति को यह जानना जरूरी है कि उसे कहां नहीं रहना चाहिए। जानिए संक्षिप्त में 5 निषेध जगहें।
14
15
बैठकरूम (Living room) और अतिथि कक्ष (Guest room) में फर्क होता है। अतिथि कक्ष वास्तु के अनुसार कैसा होना चाहिए, कहां होना चाहिए और उसमें क्या क्या होना चाहिए आओ जानते हैं इस संबंध में 3 टिप्स।
15
16
घर में या घर के बाहर कई तरह के वास्तु दोष हो सकते हैं। वास्तु दोष से कई तरह के रोग या शोक उत्पन्न होते हैं। अत: यदि आपका घर कार्नर का है, तीराहे, चौराहे पर है, दक्षिण दिशा का घर है या घर के अंदर किसी भी प्रकार से वास्तु दोष है तो आप उक्त 10 उपाय ...
16
17
वास्तुशास्त्र में यह बताया गया है कि दीपक की लौ किस दिशा में होने पर उसका क्या फल मिलता है।
17
18
घर में कौनसी तस्वीरें किस कक्ष में लगाएं और कौनसी नहीं इसका उल्लेख वास्तुशास्त्र में मिलता है। यदि आपका अपनी पत्नी या पति से कोई मनमुटाव चल रहा है तो यहां प्रस्तुत है शयनकक्ष में लगाने वाली 5 तस्वीरों की जानकारी।
18
19
यह एक वैज्ञानिक तथ्‍य है कि वायु जब औष‍धीय पौधों के बीच होकर गुजरती है तो उसके जीवनदायिनी ऊर्जा के प्रभाव में वृद्धि हो जाती है। यह शोधित व सुगंधित वायु जब घर के आंगन, ड्योढ़ी, लॉबी आदि स्थानों तक पहुंचती है, तो वहां रहने वालों का स्वास्थ्य उत्तम ...
19