0

gift ideas for new home : जानिए, नए घर के लिए कौन सा उपहार शुभ होता है

शुक्रवार,सितम्बर 25, 2020
0
1
जब हम गृह प्रवेश करते हैं तो नई आशा, नए सपने, नई उमंग स्वाभाविक रूप से मन में हिलोर लेती है। आइए जानें 20 जरूरी बातें जो आपको नए घर में प्रवेश के समय याद रखनी चाहिए।
1
2
द्वार की चौखट के नीचे वाली लकड़ी या पत्थर जो ज़मीन पर रहती है उसे आम बोलचाल की भाषा में देहरी, देहली और डेली कहते हैं परंतु सही शब्द है दहलीज़ या डेहरी। इसे द्वारपिंडी, ड्योढ़ी, बरोठा भी कहते हैं। वास्तु शास्त्र में इसका बहुत महत्व है। आओ जानते हैं ...
2
3
वास्तुशास्त्र में यह बताया गया है कि दीपक की लौ किस दिशा में होने पर उसका क्या फल मिलता है।
3
4
बेडरूम यानी शयन कक्ष वह कमरा होता है जहां आप अपनी दुनिया भर की चिंताएं भूल कर शांति से आराम और दांपत्य जीवन में प्यार घोलना चाहते हैं। लेकिन कई बार आपको पता नहीं है कि बेडरूम में रखी कुछ चीजें आपकी शांति में बाधक बन रही हैं।
4
4
5
स्तुत हैं वास्तु के अनुसार 13 ऐसी बातें जो हम सबको जरूर पता होना चाहिए। अगर आप भी अपने जीवन को सुख, शांति और सफलता से भरपूर बनाना चाहते हैं तो अवश्य अपनाएं।
5
6
लोग नहाने के बाद बाथरूम गंदा ही छोड़ देते हैं या बिना वजह पानी की बर्बादी करते हैं। ये आदत ज्योतिष के नजरिए से दुर्भाग्य बढ़ाने वाली है। इसकी वजह से चंद्र और राहु-केतु के दोष बढ़ते हैं।
6
7
लक्ष्मणा का पौधा मिलना बहुत दुर्लभ है परंतु यदि प्रयास किया जाए तो मिल भी जाता है। यह बेल की तरह होता है और इसके पत्ते पान या पीपल के पत्ते की तरह होते हैं। गांव में इसे गूमा कहते हैं और वैद्यवर्ग इसे लक्ष्मण बूटी कहते हैं। कई विद्वान इसे अपराजिता ...
7
8
समुद्र मंथन के समय देव- दानव संघर्ष के दौरान समुद्र से 14 अनमोल रत्नों की प्राप्ति हुई। जिनमें आठवें रत्न के रूप में शंखों का जन्म हुआ। प्राकृतिक रूप से शंख कई प्रकार के होते हैं। देव शंख, चक्र शंख, राक्षस शंख, शनि शंख, राहु शंख, पंचमुखी शंख, ...
8
8
9
सुकून के घर के लिए सबसे पहले दिशा का चयन करना चाहिए। हमारे अनुसार सबसे उत्तम दिशा- पूर्व, ईशान और उत्तर है। वायव्य और पश्‍चिम सम है। आग्नेय, दक्षिण और नैऋत्य दिशा सबसे खराब होती है। आओ जानते हैं कि घर के भीतर किस दिशा में क्या होना चाहिए।
9
10
घर में कौन सी वस्तुएं होना चाहिए और कौन सी नहीं यह भी बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। पीतल, सोना, तांबा उत्तम, कांसा, चांदी, जस्ता, मध्यम और लोहा, स्टील, एल्युमिनियम आदि निम्नतम है। घर या किचन में अधिकतर पीतल, तांबा, कांसा, लकड़ी और चांदी की वस्तुएं ...
10
11
पारिवारिक रिश्ते सही चलते रहें, उनमें किसी भी प्रकार की खटास न रहे, उसके इस दिशा का संतुलन में रहना अत्यंत आवश्यक होता है। इस दिशा में संतुलन बनाए रखने के लिए जिससे कि
11
12
यह एक वैज्ञानिक तथ्‍य है कि वायु जब औष‍धीय पौधों के बीच होकर गुजरती है तो उसके जीवनदायिनी ऊर्जा के प्रभाव में वृद्धि हो जाती है। यह शोधित व सुगंधित वायु जब घर के आंगन, ड्योढ़ी, लॉबी आदि स्थानों तक पहुंचती है, तो वहां रहने वालों का स्वास्थ्य उत्तम ...
12
13
यदि आपके घर का मुख्य दरवाजा वायव्य कोण अर्थात उत्तर और पश्‍चिम दिशा के मध्य है तो 5 खास बातें जानना जरूरी है।
13
14
वास्तु, ज्योतिष और लाल किताब में हाथी को बहुत ही शुभ माना जाता है। शास्त्रों में इस पशु का संबंध विघ्नहर्ता गणपति जी और धन की देवी लक्ष्मीजी से है। आओ जानते हैं हाथी की प्रतिमा को घर में रखने के 5 फायदे।
14
15
वास्तु के अनुसार घोड़ों की तस्वीर जीवन में तरक्की तरक्की देने वाली होती है, लेकिन इसका किस दिशा और कहां पर लगाना चाहिए यह जानना बहुत जरूरी है। आओ जानते हैं इस संबंध में 5 खास जानकारी।
15
16
वास्तु, ज्योतिष और लाल किताब में हाथी को बहुत ही शुभ माना जाता है। घर में हाथी की प्रतिमा रखने के कई फायदे होते हैं। शास्त्रों में इस पशु का संबंध विघ्नहर्ता गणपति जी से है। आओ जानते हैं इसके बारे में संक्षिप्त में कुछ खास।
16
17
पीतल धातु से बना शेर, ना सिर्फ आपके घर की शोभा को बढ़ाता है बल्कि आपके भीतर छिपी हीन भावना या आत्मविश्वास की कमी को भी समाप्त करता है।
17
18
14 प्रकार की महाविद्याओं के आधार पर 14 प्रकार की गणपति प्रतिमाओं के निर्माण से वास्तु जगत में तहलका मच गया है।
18
19
हमने यह देखा है कि जब भी हम प्लाट या मकान खरीदने जाते हैं तो हमें पूर्व दिशा प्लाट या मकान बताया जाता है जबकि अधिकतर कालोनियों के प्लाट पूर्णत: पूर्व या उत्तर में नहीं कटे होते हैं। इसलिए कई लोगों के मकान पूर्व दिशा के नाम पर या तो ईशान कोण के होते ...
19