शनिवार, 13 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. ज्योतिष
  3. वास्तु-फेंगशुई
  4. वास्तु के अनुसार घर में कहां रखें कंप्यूटर टेबल
Written By WD Feature Desk
Last Updated : गुरुवार, 22 फ़रवरी 2024 (13:13 IST)

वास्तु के अनुसार घर में कहां रखें कंप्यूटर टेबल

वास्तु शास्त्र के अनुसार कंप्यूटर टेबल किस दिशा में रखें

Computer table vastu
Computer table Vastu Tips: आजकल हर घर में कंप्यूटर आ गया है। उसे एक विशेष प्रकार की टेबल पर रखकर उसका उपयोग करते हैं। यह जानना जरूरी है कि वास्तु शास्त्र के अनुसार कंप्यूटर टेबल को किस दिशा में रखना चाहिए। भले ही आप ऑफिस का कार्य कर रहे हों, स्कूल या कॉलेज का या घर का कोई कार्य। आजकल तो यूट्यूब का काम भी होने लगा है। ऐसे में सही दिशा का चयन जरूरी है तभी तरक्की या स्थायित्व तय होगा।  
कंप्यूटर टेबल की दिशा : आप अपनी टेबल कुर्सी इस तरह लगाएं कि आपकी पीठ दीवार की ओर हो। पीठ मुख्य द्वार, खिड़की या उत्तर-ईशान दिशा की ओर न हो। यानी आप दक्षिण की दीवार से टिककर बैठे और आपका मुख उत्तर में हो। यदि यह संभव न हो तो मुख पूर्व की ओर रख सकते हैं। यह भी संभव न हो तो वायव्य या पश्‍चिम की ओर मुख रख सकते हैं। इसी से आपकी दिशा तय होगी। यह भी कर सकते हैं कि कम्प्यूटर टेबल पूर्व मध्य या उत्तर मध्य में रखें। ईशान में नहीं रखें।
किससे बनी हो टेबल : टेबल ट्रांसपरेंट न हो, जर्मन, लोहे या एल्युमिनियम की टेबल न हो। टेबल पाम या नापाम की लकड़ी की न हो। टेबल शीशम, सागौन या अखरोट की लकड़ी की बनी हो तो उचित है। अच्छे प्लायवुड की टेबल भी चल सकती है। टेबल के कोने गोल हो तो अच्छा है। टेबल टूटी फूटी या हिलने वाली न हो।
टेबल का आकार कैसा हो : टेबल हमेशा आयताकार होना चाहिए, गोलाकार या अंडाकार नहीं होना चाहिए। टेबल बड़ी हो। कंप्यूटर के आसपास कम से कम 6-6 इंच की स्पेस हो।
 
टेबल का टॉप कैसा हो : टेबल के टॉप का रंग सफेद, दूधिया या क्रीम श्रेष्ठ है या अन्य रंग फीके हल्के कलर हों तो श्रेष्ठ है। प्लेन ग्लास भी रख सकते हैं।
Computer table vastu
Computer table vastu
टेबल वास्तु के अन्य नियम- Other rules of Table Vastu:-
  • टेबल पर विषय से संबंधित पुस्तकें व आवश्यक इंस्ट्रूमेंट ही रखें। 
  • बंद घड़ी, टूटे-फूटे व बंद पेन, धारदार चाकू, हथियार व औजार कदापि नहीं रखें। 
  • टेबल व कुर्सी के ऊपर सीढ़ियां, बीम, कॉलम व डक्ट, टांड नहीं हों। 
  • स्वीच बोर्ड आग्नेय या वावव्य में रखें। ईशान पर नहीं हों।
  • टेबल के उत्तर-पूर्व दिशा में क्रिस्टल का पेपर वेट रखना रखें। 
  • साथ ही टेबल के उत्तर में ही पानी की बोतल, चाय और काफी का कप भी रख सकते हैं। 
  • जरूरी फाइलों और पुस्तकों को दाईं ओर रखें। 
  • लाल और काले कलर की चीजें न रखें। 
  • हो सके तो टेबल पर उत्तर या ईशान दिशा अधिकतर खाली हो या उस पर पानी की बोतल या गुलदस्ता ही रखा हो। 
  • आप यहां अपने ईष्टदेव की पोर्टेबल तस्वीर भी रख सकते हैं।
  • आप अपनी टेबल की प्रतिदिन अच्छे से सफाई करें या कराएं। 
  • टेबल की रैक या अल्मारी में जरूरी समान ही रखें। फालतू कबाड़ एकत्र न करें।  
  • टेबल पर दर्पण-कांच, कैंची-सुई, इलेक्ट्रानिक सामान, एलबम-फिल्मी पोस्टर्स, सीडी प्लेयर-वीडियो गेम्स, अखबार की रद्दी, खाने की प्लेट, नकारात्मक पौधे, एंटीक स्टैच्यू और अनुपयोगी पुस्तकें या कॉफी न रखें।
ये भी पढ़ें
परम श्रद्धेय पूज्यपाद श्री बड़े सरकार जी महाराज का 34वां समाधि उत्सव