यूपी में डॉन बदन सिंह बद्दो पर शिकंजा, ढोल की थाप पर घर की कुर्की

हिमा अग्रवाल| Last Updated: शनिवार, 7 नवंबर 2020 (15:57 IST)
कानपुर मेें विकास दूबे कांड के बाद से पूरे उत्तर-प्रदेश के गैंगस्टर अब के निशाने पर है, लेकिन 19 महीने पहले पुलिस की गिरफ्त से फरार वेस्ट यूपी के डॉन बदनसिंह बद्दो कहां है, यह किसी को नही पता है।
उत्तर-प्रदेश पुलिस और यूपी एसटीएफ ने बदन सिंह बद्दो पर ढाई लाख का इनाम घोषित किया हुआ है, देश से विदेश तक अपना नेटवर्क फैलाने वाले इस डॉन की तलाश में नाकाम रही। न्यायालय के आदेश पर अपराध की दुनिया में नाम कमाने वाले बदन सिंह बद्दो के घर पर आज कुर्की की कार्रवाई की गई।
गौरतलब है कि 28 मार्च 2019 को पुलिस कस्टडी से फरार होने के मामले में सीजेएम कोर्ट ने बद्दो की कुर्की के आदेश दिए है, जिसके चलते पुलिस ने 82 व 83 की कार्रवाई करते हुए पंजाबीपुरा इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया। सबसे पहले पुलिस ने इलाके में ढोल की थाप के साथ कुर्की कार्रवाई की मुनादी करवाई, फिर उसके घर मे रखा सारा कीमती सामान जब्त कर लिया।

बद्दो के घर कई थानों की पुलिस, एएसपी, डिप्टी एसपी और पीएसी के साथ आपरेशन कुर्की को अंजाम देने पहुंचे। पूरे घर को खंगाला गया और उसके बाद घर का सामान जब्त करने की कार्रवाई की गई। बद्दो के इस मकान में उनकी बहन और उसकी बेटी और दामाद रहते हैं और इस मकान के बारे में कम ही लोग जानते हैं।

मेरठ पुलिस ने कुछ समय पहले कुख्यात योगेश भदौड़ा, शराब माफिया रमेश प्रधान की भी संपत्ति कुर्क की थी, लेकिन बद्दो पर अब तक पुलिस क्यों कार्रवाई नहीं की थी। जिसको लेकर पुलिस पर कई सवाल खड़े हो गये थे। आखिरकार न्यायालय आदेश के बाद पुलिस ने आज बदन सिंह बद्दो के घर की कुर्की दी।
गैंगस्टर बदन सिंह बद्दो पर कई राज्यों में 40 से अधिक मामले हत्या, रंगदारी और अपहरण के दर्ज है। वही बद्दो ने शराब की तस्करी, हथियारों की तस्करी, जमीनों पर अवैध कब्जे, सुपारी लेकर हत्या कराकर करोड़ो की अकूत संपत्ति अर्जित कर रखी है। बदन सिंह बद्दो को आजीवन कारावास की सज़ा हो चुकी थी और वह फतेहगढ़ सैन्ट्रल जेल में सजा काट रहा था।

बीते 28 मार्च 2019 में देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मेरठ में चुनावी रैली कर रहे थे, ठीक उसी वक्त पश्चिमी उत्तरप्रदेश का कुख्यात डॉन बदनसिंह बद्दो पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। बद्दो को फतेहगढ़ जेल से एक केस की पेशी में गाजियाबाद कोर्ट में पेश करने के लिए लाया गया था, उसने पुलिसवालों पर ऐसा जादू चलाया कि वह उसे गाजियाबाद कोर्ट में पेशी कराने के बाद मेरठ के एक होटल में ले आये।

बद्दो ने सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों को कोल्डड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाया और घरवालों से मिलने के बहाने होटल से बाहर आया और रफूचक्कर हो गया। पुलिस महीनों बद्दो के पांव के निशान तलाशने के लिए उसके मददगारों को जेल भेजती रही, लेकिन बद्दो को तक नही पहुंच पायी, लेकिन कोर्ट के आदेश पर उसके घर की कुर्की की गई है।

मेरठ से फरार बद्दो को लगभग पौने दो साल बीत चुके हैं, लेकिन बद्दो का पुलिस सुराग नहीं लगा पाई। भले ही बद्दो पुलिस के हत्थे ना चढ़ा हो, लेकिन उसकी फेसबुक प्रोफाइल अपडेट होती रही, कभी बद्दो के चंडीगढ़ होने, कभी नेपाल तो कभी ऑस्ट्रेलिया होने की चर्चा चली और बद्दो अपनी सोशल साइट पर भी एक्टिव रहा और मीडिया की सुर्खियां भी बना।

हालांकि पुलिस ने आज उसके घर पर कुर्की की कार्रवाई की है, वही उनका कहना है की घर के आसपास की जमीन पर कब्जा करेंगे निर्माण कराया गया है, जल्दी ही अवैध निर्माण पर प्रशासन का बुल्डोजर गरजेगा।



और भी पढ़ें :