Kanpur : मनीष गुप्ता मर्डर केस में एक्शन में UP सरकार, कारोबारी की पत्नी को OSD की नौकरी, CM योगी ने मानीं परिवार की सभी मांगें

पुनः संशोधित गुरुवार, 30 सितम्बर 2021 (17:51 IST)
कानपुर। के ने गोरखपुर में पुलिस की कथित पिटाई से मारे गए के परिजनों से मुलाकात कर उन्हे न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। गुरुवार को विकास योजनाओं की सौगात देने आए योगी ने पुलिस लाइन के सभागार में मृतक प्रापर्टी डीलर मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी और अन्य परिजनो से मुलाकात की और उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया। इसके अलावा सीएम योगी ने राहत राशि भी 10 लाख से बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन से प्रस्ताव देने को कहा है।
ALSO READ:

मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और सिद्धू की मुलाकात, दागी अफसरों पर चर्चा संभव
उन्होंने कहा कि दोषी किसी भी सूरत में बख्शे नहीं जाएंगे। पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी। सरकार का प्रयास होगा कि पूरा मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चले ताकि दोषियों को जल्द ही उनके अंजाम तक पहुंचाया जा सके। उन्होंने कहा कि विपक्ष इस संवेदनशील मसले पर राजनीति कर रहा है
मगर सरकार कानून व्यवस्था बनाए रखने और पीडितों को न्याय दिलाने की दिशा में अपने कर्तव्य पालन करने में कोई कोताही नहीं बरतेगी। दोषी साबित होने पर आरोपी पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी। सूत्रों के अनुसार मृतक व्यवसायी की पत्नी ने मुख्यमंत्री से कहा कि मामले की जांच में गोरखपुर पुलिस को शामिल नहीं किया जाए।
पत्नी ने जताया भरोसा : मुख्यमंत्री के रवाना होने के बाद पत्रकारों से बातचीत में मीनाक्षी ने कहा ‍कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी बात को गंभीरता से सुना और कहा कि दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने इस मामले को गोरखपुर से कानपुर ट्रांसफर करने का भी आश्वासन दिया ताकि हम लोगों को कोई असुविधा न हो।
मृतक कारोबारी की पत्नी ने कहा कि योगीजी ने मुझे नौकरी दिलाने का भरोसा दिया है और वहां मौजूद अधिकारियों को इस संबंध में तत्काल निर्देश भी दिये हैं। मुझे और मेरा परिवार योगी जी के प्रति कृतज्ञ है और भरोसा है कि मुझे और मेरे बच्चे को न्याय मिलेगा। कानपुर के प्रापर्टी डीलर मनीष गुप्ता की गोरखपुर के एक होटल में पुलिस की पिटाई से मृत्यु हो गई थी। इस मामले में रामगढ़ताल थाने के प्रभारी समेत 6 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
प्रियंका भी कर सकती है मुलाकात : पुलिस की इस कार्रवाई के खिलाफ विपक्ष लामबंद हो गया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मायावती और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने घटना की कड़ी निंदा की है। यादव ने आज सुबह पीड़ित परिजनों से मुलाकात की थी जबकि प्रियंका वाड्रा के आज शाम यहां पीड़ित परिवार से मिलने की संभावना है।



और भी पढ़ें :