UP : ATS की गिरफ्त में 2 रोहिंग्या, अवैध रूप से बांग्लादेश के रास्ते भारत में घुसे

Last Updated: मंगलवार, 8 जून 2021 (22:00 IST)
लखनऊ। उत्तरप्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने सोमवार को फर्जी दस्तावेजों के आधार पर अवैध रूप से भारत में रहने वाले म्यांमा के 2 रोहिंग्याओं को गाजियाबाद से किया है। प्रवक्ता ने मंगलवार को यह जानकारी दी।
एटीएस प्रवक्ता ने बताया कि एटीएस की टीम ने सोमवार को गाजियाबाद से नूर आलम उर्फ रफीक और आमिर हुसैन को गिरफ्तार किया है। एटीएस के बयान के अनुसार नूर आलम और आमिर हुसैन मूल रूप से म्यांमार के रखाईन प्रांत के रहने वाले हैं जिनमें नूर आलम ने मेरठ जिले के दरबार लबर खास और आमिर हुसैन ने दिल्ली के खजूरी खास इलाके के गली नंबर 6, श्रीराम कॉलोनी में अपना ठिकाना बनाया था।
एटीएस टीम ने इन दोनों को गिरफ्तार करने के बाद नूर आलम के कब्जे से 65,860 रुपए, मोबाइल फोन, आधार कार्ड, पैन कार्ड और एक यूएनएचसीआर कार्ड तथा आमिर हुसैन के कब्जे से एक यूएनएचसीआर कार्ड और 4,800 रुपए भारतीय मुद्रा बरामद की गई है।


एटीएस के अनुसार हुसैन अवैध रूप से के रास्‍ते भारत में आया था। नूर आलम ने उसे भरोसा दिया था कि फर्जी दस्तावेजों के सहारे वह उसके भारतीय प्रपत्र बनवा देगा। एटीएस प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायालय के समक्ष प्रस्‍तुत कर पुलिस रिमांड में भेजने का अनुरोध किया जाएगा ताकि भारत में इनके अन्‍य सहयोगियों के बारे में जानकारी हासिल की जा सके।
एटीएस के मुताबिक जनवरी में अजीजुल्लाह नामक एक रोहिंग्या को गिरफ्तार किया गया था और एटीएस को उसके बहनोई नूर आलम उर्फ रफीक की तलाश थी। एटीएस के अनुसार नूर आलम ही मास्‍टर माइंड है, जो रोहिंग्याओं को भारत लाने में सूत्रधार रहा है। (भाषा)



और भी पढ़ें :