एम्बुलेंस चालकों की शराब पार्टी बनी मरीज की मौत का कारण, शराब पार्टी का वीडियो हुआ वायरल

अवनीश कुमार| Last Updated: गुरुवार, 9 सितम्बर 2021 (12:51 IST)
कानपुर। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक बार फिर से लापरवाही सामने आई है, जहां जहरीले कीड़े के काटने के बाद तीमारदार को लेकर सीएचसी पहुंचा था। लेकिन हालत गंभीर होने के चलते सीएससी से कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल के लिए डॉक्टर ने रेफर कर दिया।
जब मरीज को तीमारदारों ने एम्बुलेंस पर ले जाने के लिए को बुलाया तो एम्बुलेंस चालक काफी देर तक नहीं आया। काफी देर बीत जाने के बाद भी जब एम्बुलेंस चालक नहीं आया तो मरीज के तीमारदार एम्बुलेंस चालकों के कमरे में जा पहुंचे, जहां पर एम्बुलेंस चालकों की शराब पार्टी चल रही थी।

इसका वीडियो मरीज के तीमारदार ने बना लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है। वहीं हंगामा बढ़ता देख दूसरा एम्बुलेंस चालक मरीज को लेकर हैलट अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।



ALSO READ:

UP में बेलगाम बदमाश, ड्यूटी पर जा रहे कांस्टेबल को मारी गोली

क्या है मामला? : मामला कानपुर के रहने वाले गजनेर के पतारा कस्बा निवासी सुरजन सिंह का है। बुधवार की शाम जहरीले कीड़े के काट लेने के बाद उनके बेटे वीरो ने आनन-फानन में सीएससी अस्पताल ले आकर पिता को भर्ती कराया था। मगर हालत बिगड़ने के बाद सीएचसी के द्वारा मरीज को हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।

वहीं जब तीमारदार ने अपने मरीज को ले जाने के लिए एम्बुलेंसकर्मियों को 108 नंबर पर फोन किया तो काफी देर बीत जाने के बाद भी एम्बुलेंस घर में नहीं पहुंचे। इसके बाद तीमारदार एम्बुलेंसकर्मियों के कमरे में जा पहुंचा, जहां कई सारे एम्बुलेंसकर्मी एकसाथ एकत्रित होकर शराब पार्टी करते हुए नजर आ रहे थे।

इस पर मरीज के तीमारदार ने शराब पीते हुए एम्बुलेंस चालकों का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया और जमकर हंगामा किया। हंगामा बढ़ता देख अधीक्षक भी मौके पर पहुंच गए और दूसरे एम्बुलेंस चालक को मरीज को ले जाने के निर्देश दिए। जब तक मरीज को लेकर एम्बुलेंस चालक शहर के हैलट अस्पताल पहुंचा तो डॉक्टर ने मरीज को मृत घोषित कर दिया है जिसके बाद मरीज के तीमारदार ने एम्बुलेंस चालकों की शराब पार्टी करते हुए सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल कर दिया।


क्या बोले अधिकारी :


सीएचसी अधीक्षक ने बताया कि एम्बुलेंस चालकों की लापरवाही की बात पता चली है। सीएमओ से शिकायत कर उनको यहां से हटाने के लिए कहा है।



और भी पढ़ें :