जेल में वर्चस्व की जंग, मारा गया कानपुर का कुख्यात अपराधी मोनू पहाड़ी

Kanpur
अवनीश कुमार| पुनः संशोधित गुरुवार, 2 अप्रैल 2020 (11:29 IST)
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के इटावा में बंदियों के बीच वर्चस्व को लेकर हुई मारपीट में घायल हुआ के कुख्यात अपराधी की इलाज के दौरान हो गई। जिसके बाद पुलिस और जेल प्रशासन ने स्थिति सामान्य रहे इसके मद्देनजर भारी पुलिसबल जेल के अंदर तैनात कर दिया है।
मिली जानकारी के अनुसार इटावा के जिला जेल में देर रात वर्चस्व को लेकर कानुपर के कुख्यात अपराधी मोनू पहाड़ी और आगरा के अपराधी मुन्ना खालिद से जमकर मारपीट हो गई थी जिसकी सूचना मिलते ही जेल प्रशासन भी इन लोगों को अलग करने में जुट गया था और इन लोगों के बीच हो रही वर्चस्व की जंग में डिप्टी जेलर समेत एक दर्जन जेल कर्मचारी जख्मी हुए थे जिसमें अपराधी मोनू पहाड़ी और मुन्ना खालिद भी घायल हुए थे।

आज सुबह इलाज के दौरान कानपुर के कुख्यात अपराधी मोनू पहाड़ी की मौत हो गई। मौत की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन ने भारी पुलिसबल तैनात कर दिया है।कानपुर से मिली जानकारी के अनुसार मोनू पहाड़ी कानपुर के कुख्यात अपराधियों में से एक था, शायद ही कोई ऐसा कानपुर का थाना बाकी हो जहां उसके ऊपर आपराधिक मुकदमे ना चल रहे हों।

सुरक्षा की दृष्टि से कुछ माह पूर्व उसे कानपुर जेल से इटावा जेल स्थानांतरित किया गया था।कुख्यात अपराधी मोनू पहाड़ी की मौत की जानकारी होने के बाद कानपुर में भी पुलिस ने सुरक्षा की दृष्टि से शहर में पुलिसबल बढ़ा दिया है।




और भी पढ़ें :