टोक्यो खेल गांव में पैर पसारता कोरोना! 9 नए केस से कुल 60 हुई कोरोना मामलों की संख्या

पुनः संशोधित मंगलवार, 20 जुलाई 2021 (11:21 IST)
टोक्यो:ओलंपिक शुरु होने में सिर्फ 3 दिन बाकी है लेकिन कोरोना वायरस का खतरा टोक्यो के खेल गांव में बढ़ता ही जा रहा है। मंगलवार को आयोजकों ने 9 नए कोरोना मामलों की पुष्टि की है।

17 से 19 जुलाई के दौरान लिए गए 9 सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं। सोमवार को भी तीन मामले सामने आए थे जिसमें से 2 विदेशी और 1 स्वदेशी (जापान का निवासी) व्यक्ति था।

1 जुलाई से ओलंपिक आयोजक समिति के सामने खेलों से संबंधित 60 कोरोना मामले सामने आ गए हैं इनमें से कुछ खिलाड़ी है तो कुछ स्टाफ सदस्य।

ओलंपिक खेल गांव अभी भी सुरक्षित : आईओसी स्वास्थ्य सलाहकार

कोरोना रोकथाम के लिए अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के स्वास्थ्य सलाहकार ने सोमवार को आश्वस्त किया है कि ओलंपिक और पैरा ओलंपिक से संबंधित स्टाफ के बीच कोरोना संक्रमण मामलों के बावजूद ओलंपिक खेल गांव सुरक्षित है।

आईओसी को कोरोना रोकथाम पर सलाह दे रहे एक स्वतंत्र विशेषज्ञ पैनल के अध्यक्ष ब्रायन मैकक्लोस्की ने सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “ व्यक्तिगत संक्रमण की आशंका है, क्योंकि संबंधित लोग फिल्टरिंग के विभिन्न स्तरों से गुजर रहे हैं, हालांकि स्थानों पर सभी रोकथाम उपायों के साथ, विशेष रूप से मजबूत परीक्षण उपायों और आईसोलेशन की त्वरित प्रतिक्रिया के साथ संक्रमण दूसरों के लिए जोखिम पैदा नहीं करेगा। ”
ओलंपिक गांव मेंं शुक्रवार को खेलों के शुरू होने पर 6700 एथलीट और अधिकारी एक साथ होंगे। खेलों के आयोजकों के मुताबिक एक जुलाई से लेकर सोमवार तक चार एथलीटों सहित खेलों से संबंधित 58 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

मैकक्लोस्की ने कहा, “ हम देख रहे हैं कि वर्तमान में प्रस्थान से पहले कोरोना टेस्ट किया जा रहा है। हम लोगों को हवाई अड्डे पर देख रहे हैं और वे वहां फिल्टर हो सकते हैं। उनके ओलंपिक गांव पहुंचने पर भी उन्हें फिल्टर किया जा सकता है। किसी और के लिए जोखिम में कमी के रूप में फिल्टरिंग के प्रत्येक स्तर और संक्रमण के मामले जो हम देख रहे हैं वह सच में बहुत कम हैं। ”
टोक्यो में उद्घाटन समारोह शुरू होने में में मात्र चार दिन का समय रह गया है और असाही समाचारपत्र के 68 फीसदी पाठकों ने ओलम्पिक आयोजकों की कोरोना पर नियंत्रण पाने की क्षमता पर संदेह जताया है जबकि 55 फीसदी का कहना है कि वे खेलों को आयोजित किये होने का ही विरोध करते हैं।



और भी पढ़ें :