रविवार, 25 जुलाई 2021

4 बार के स्वर्ण पदक विजेता द कोरियाई को हरा सकता है यह भारतीय निशानेबाज

पुनः संशोधित मंगलवार, 20 जुलाई 2021 (15:15 IST)
नई दिल्ली:सौरभ चौधरी से प्रभावित विश्व चैम्पियनशिप के पूर्व रजत पदक विजेता का मानना है कि यह युवा निशानेबाज में महानतम निशानेबाजों में शुमार दक्षिण कोरिया के जिन जोंग हो को हरा सकता है।
जिन ओलंपिक में व्यक्तिगत स्पर्धा में सबसे कामयाब निशानेबाजों में से है जिन्होंने चार स्वर्ण समेत रिकॉर्ड छह पदक जीते हैं।

राय ने यह भी कहा कि यशस्विनी देसवाल और मनु भाकर भी टोक्यो
में अच्छा प्रदर्शन कर सकती हैं।

राय ने पीटीआई को दिये इंटरव्यू में कहा ,‘‘ सौरभ चौधरी कुछ अलग ही है। मैने उसे निशानेबाजी करते देखा है। वह पदक ही नहीं जीत रहा बल्कि बड़े स्कोर के साथ जीत रहा है । इसमें कोई हैरानी की बात नहीं कि उसके नाम इस समय विश्व रिकॉर्ड है ।’’
उन्होंने कहा ,‘‘उसके स्कोर देखो । वह नियमित तौर पर इतना अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। टोक्यो
में क्वालीफिकेशन में उसने 582 . 583 स्कोर कर लिया तो वह 10 मीटर एयर पिस्टल में पदक की सबसे बड़ी उम्मीद होगा ।’’

महिलाओं की दस मीटर एयर पिस्टल में भाग ले रही यशस्विनी को उन्होंने सबसे मेहनती निशानेबाजों में से एक बताया।

उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे याद है कि एक बार जर्मनी में शिविर था और वह शाम तक अभ्यास करती रहती थी । रेंज पर ही लंच करती थी और डाइनिंग टेबल पर दिन में आराम कर लेती थी । ’’
उन्होंने कहा कि मनु भाकर अपने हुनर में माहिर है और दिमाग की काफी तेज है लिहाजा पदक जीत सकती है।

इस बार ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने में नाकाम रहे सेना के निशानेबाज सूबेदार मेजर राय की नजरें 2024 पेरिस ओलंपिक पर लगी है । उन्होंने टोक्यो
में भारतीय निशानेबाजों को क्वालीफिकेशन और फाइनल के बीच अत्यधिक सावधान रहने और लक्ष्य से नहीं भटकने की सलाह दी है।
भारतीय निशानेबाजों नेटोक्यो
में अभ्यास शुरू किया


भारतीय निशानेबाजों ने टोक्यो
ओलंपिक से यहां असाका निशानेबाजी रेंज पर अभ्यास शुरू किया।निशानेबाजी की स्पर्धायें उत्तर पश्चिम टोक्यो
स्थित असाका रेंज पर 24 जुलाई से दो अगस्त के बीच होंगी । यहां 1964 ओलंपिक में भी निशानेबाजी स्पर्धा हुई थी।

भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ ने ट्वीट किया ,‘‘ निशानेबाज फिर तैयार हैं। भारतीय निशानेबाजी दल ने अभ्यास शुरू किया।’’राइफल कोच सुमा शिरूर ने ट्वीट किया ,‘‘टोक्योखेलगांव में नये माहौल में सुबह तीन किलोमीटर दौड़कर अच्छा लगा। ओलंपिक में अलग ही तरह की ऊर्जा और जज्बात उमड़ते हैं।’’

भारतीय दल में आठ राइफल, पांच पिस्टल और दो स्कीट निशानेबाजों के साथ कोच और सहयोगी स्टाफ हैं(भाषा)



और भी पढ़ें :