जूडो में इसरायल के बुटबुल से नहीं भिड़ना चाहते सुडान के मोहम्मद अब्दुल रसूल, चौथे दिन में दूसरे ऐसे खिलाड़ी

Last Updated: बुधवार, 28 जुलाई 2021 (20:37 IST)
कहते हैं राजनीति और खेल को अलग अलग रखा जाता है। ज्यादातर प्रबुद्ध बुद्धिजीवी भी भारत पाकिस्तान के लिए यह ही राय रखते हैं कि सीमा विवाद अपनी जगह है खेल अपनी जगह। हालांकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर के मसले पर ऐसी एकमत राय नहीं बन पायी है। ताजा उदाहरण ओलंपिक में देखने को मिला है।

कुल दो खिलाड़ी ओलंपिक में इजरायल के जूडो कराटे के खिलाड़ी का बॉयकॉट कर चुके हैं। सबसे पहले यह फैसला अल्जीरिया के खिलाड़ी ने लिया। उन्होंने कहा कि ओलंपिक में मेडल जीतना बड़ी बात है लेकिन उससे बड़ा फीलिस्तीन के लिए समर्थन है। 73 किलोग्राम वर्ग में नौरीन को इजरायल के खिलाड़ी से भिड़ना था लेकिन उन्होंने उनसे खेलने से मना कर दिया और जूडो प्रतियोगिता से अपना नाम वापस ले लिया।

इस अफ्रीकी विजेता को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने तुरंत प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया और स्वदेश भेज दिया।

यह पहला वाक्या नहीं है ऐसा नौरीन पहले भी साल 2019 में विश्व चैंपियनशिप में कर चुके हैं। इसके बाद इंटरनेशनल जूडो फेडेरेशन ने भी उनको सस्पेंड कर दिया था। उनका मानना है कि इजरायल गाजा पट्टी पर फिलिस्तीनियों के साथ अत्याचार करता है।

अब के खिलाड़ी ने भी कुछ ऐसा ही कदम उठाया है। सूडान के जूडो खिलाड़ी ने इजरायल के बुटबुल के खिलाफ खेलने से मना कर दिया है और मुकाबले से अपना नाम वापस ले लिया है। हालांकि स्पष्ट तौर पर रसूल ने कुछ भी नहीं कहा है लेकिन संभवत नौरीन की देखा देखी ही इन्होंने यह कदम उठाया है।

गौरतलब है कि हाल ही में एक फुटबॉल क्लब ने भी इजरायल के येरूशलम में मैच खेलने से मना कर दिया था। इजरायल और फिलिस्तीन के गतिरोध में कई बार दुनिया दो धड़ों में बंटते हुए दिखी है।(वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :