वकार यूनिस के बीच मैदान पर नमाज के बयान पर यह कहा वसीम जाफर और सबा करीम ने

Last Updated: बुधवार, 27 अक्टूबर 2021 (21:11 IST)
वकारयूनिस का एक बयान कल सुर्खियों में बदल गया था। दरअसल आरे न्यूज पर की गई एक बातचीत के दौरान ने पहले तो पाकिस्तानी विकेटकीपर की आक्रमकता की तारीफ की और कहा उन्होंने काफी बेहतरीन बल्लेबाजी की।
हालांकि बल्लेबाजी से उतरने से पहले के उनके काम को वकार यूनिस ने सबसे अच्छी बात बताई। वह उनकी विकेटकीपिंग की नहीं बल्कि मैदान के बीचों बीच उनकी अदायगी की बात कर रहे थे।

वकार यूनिस के इस वीडियो क्लिप के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने उनकी आलोचना की। खासकर भारतीय समाज के लोगों ने कहा इन सबके बीच उन्हें हिंदूओं के बीच पाक कीपर की नमाज अदायगी सबसे बेहतरीन लगी।
भारतीय पूर्व विकेटकीपर सबा करीम ने कू के माध्यम से वकार और पाकिस्तानी आवाम को लताड़ लगाई। उन्होंने लिखा कि-
वहीं पूर्व भारतीय टेस्ट सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर ने वकार यूनिस के इस बयान को जहरीला और बकवास बताया।
इसके अलावा भारतीय कमेंटेटर हर्षा भोगले समेत आकाश चोपड़ा ने भी इस बयान कि निंदा की। गौरतलब है कि वकार युनिस के मशहूर तेज गेंदबाजों में से एक हैं और साल 2003 के विश्वकप में टीम की कप्तानी संभाल चुके हैं।

इस टी-20 विश्वकप के ठीक बाद जब रमीज राजा की पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के ताजपोशी हुई तो उन्होंने पाक के गेंदबाजी कोच के पद से इस्तीफा दे दिया था। अगर वकार ने यह कदम नहीं उठाया होता तो आज उनको भी पाक टीम की जीत का श्रेय मिल रहा होता।
वकार ने ‘नमाज-हिंदू’ टिप्पणी के लिए माफी मांगी

सोशल मीडिया पर पूर्व क्रिकेटरों और पाकिस्तानी प्रशंसकों के गुस्से का सामना करने के बाद पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज वकार यूनिस ने बुधवार को अपनी ‘नमाज-हिंदू’ वाली टिप्पणी के लिए माफी मांगी है।
वकार ने इस विवादास्पद टिप्पणी के लिए माफी मांगी है और स्पष्ट किया है कि यह उस वक्त गर्म माहौल में अनजाने में हुई गलती थी। उन्होंने लिखा, “उस गर्म माहौल में मैंने कुछ ऐसा कह दिया जो मैं नहीं कहना चाहता था, जिससे कई लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची। मैं इसके लिए माफी मांगता हूं, मेरा बिल्कुल भी ऐसा इरादा नहीं था, यह अनजाने में हुई गलती थी। खेल जाति, रंग या धर्म की परवाह किए बिना लोगों को एकजुट करता है।”



और भी पढ़ें :