प्लेइंग 11 में बाबर को आखिरकार करना पड़ सकता है बदलाव, ओपनर और फिनिशर को हुआ फ्लू

Last Updated: गुरुवार, 11 नवंबर 2021 (12:44 IST)
दुबई: के बल्लेबाज और ‘हल्के फ्लू’ (सर्दी-जुकाम) से पीड़ित हैं और उनका गुरुवार को यहां ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में खेलना संदिग्ध है। बुधवार को टीम के ट्रेनिंग सत्र में हिस्सा नहीं लेने वाले रिजवान और मलिक दोनों कोविड-19 परीक्षण में नेगेटिव आए हैं।

टीम के बाकी सदस्य भी नियमित परीक्षण में नेगेटिव पाए गए हैं। ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ के खबर के अनुसार, ‘‘दोनों खिलाड़ियों का कोविड-19 परीक्षण हुआ है और दोनों नेगेटिव आए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘टीम के बाकी सदस्य भी टूर्नामेंट के नियमित परीक्षण के दौरान नेगेटिव आए हैं जिसमें से एक परीक्षण दो दिन पहले हुआ था। ’’ खबर के अनुसार बुधवार सुबह रिजवान और मलिक जब उठे तो उन्हें ‘हल्का फ्लू और हल्का बुखार’ था और उन्हें शुरुआत में विलंब से अभ्यास में हिस्सा लेने की सलाह दी गई लेकिन बाद में इसमें हिस्सा नहीं लेने की स्वीकृति दे दी गई।
खबर के अनुसार, ‘‘पाकिस्तान गुरुवार के मैच में उनके हिस्सा लेने को लेकर अभी अधिक चिंतित नहीं है और सुबह उनकी स्थिति की दोबारा समीक्षा की जाएगी।’’ अगर ये दोनों नहीं खेल पाते हैं तो पाकिस्तान के पास विकल्प मौजूद हैं। पूर्व कप्तान सरफराज अहमद विकेटकीपर के रूप में रिजवान की जगह ले सकते हैं जबकि हैदर अली को मलिक की जगह मौका मिल सकता है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने टी-20 विश्वकप में अब तक एक भी बार टीम नहीं बदली है। भारत के खिलाफ जो टीम खेली थी वही स्कॉटलैंड के खिलाफ खेली थी और शायद इस कारण ही पाकिस्तान इस टूर्नामेंट में अब तक अविजित है।

बाबर आजम इस टूर्नामेंट में अब तक दूसरे सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज है क्योंकि कल जॉस बटलर (269) उनसे पांच रन आगे निकल गए थे। अगर आज वह सस्ते में आउट नहीं होते हैं तो वह जॉस से आगे निकल जाएंगे।

लेकिन रिजवान का बाहर बैठना टीम के लिए एक झटका हो सकता है। रिजवान ने भी इस टी-20 विश्वकप में अब तक 71 की औसत और 127 की स्ट्राइक रेट से 214 रन बनाए हैं। भारत के खिलाफ खेली नाबाद 79 रनों की पारी उनका अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

अगर उनकी जगह सरफराज अहमद खेलते हैं तो टीम में एक ऐसा खिलाड़ी आएगा जो सिर्फ स्ट्राइक रोटेट कर सकता है बड़े शॉट्स नहीं खेल सकता। इसके अलावा पूरा बल्लेबाजी क्रम भी बदलना पड़ सकता है। हो सकता है कि फकर जमान को बाबर आजम के साथ बल्लेबाजी की शुरुआत करनी पड़े।

वहीं फिनिशर की भूमिका में रच बस चुके शोएब मलिक ने स्कॉटलैंड के खिलाफ इस टूर्नामेंट का सबसे तेज अर्धशतक जमाया था। उन्होंने सिर्फ 18 गेंदो में 54 रन जड़े थे। वह न्यूजीलैंड के खिलाफ जीत में भी अहम भूमिका निभा चुके हैं।

मलिक की 3 मैचों में बल्लेबाजी आई है और उन्होंने 99 रन बनाए हैं। अगर उनकी जगह हैदर अली आते हैं तो यह दो धारी तलवार होगी क्योंकि हैदर अली आक्रमक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं लेकिन युवा हैं। एकदम से अगर किसी खिलाड़ी को सीधे सेमीफाइनल में मौका मिलता है तो वह दबाव में बिखर सकता है।



और भी पढ़ें :