इंजमाम से लेकर अकरम तक, हसन अली को मिली गालियां तो इन क्रिकेटरों ने किया विरोध

पुनः संशोधित शुक्रवार, 12 नवंबर 2021 (21:26 IST)
कराची:ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आईसीसी में का कैच टपकाने के कारण आलोचना का सामना कर रहे के तेज गेंदबाज हसन अली को वसीम अकरम और मिस्बाह-उल-हक जैसे देश के पूर्व क्रिकेट दिग्गजों का समर्थन मिला है।

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान अकरम, वकार यूनुस, राशिद लतीफ, मिस्बाह और इंजमाम-उल-हक ने हसन का समर्थन किया और कहा कि गुरुवार की रात पाकिस्तान की पांच विकेट की हार के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराना अनुचित होगा।

अकरम ने सवाल किया, ‘‘ मुझे समझ में नहीं आता कि एक खिलाड़ी को निशाने पर क्यों लेना चाहिये। हसन हमारे लिए बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले रहे हैं और उन्होंने हमें मैच जिताए हैं। कोई भी कैच छोड़ सकता है या मैदान में खराब दिन हो सकता है। क्या यह उसे एक खराब खिलाड़ी बनाता है?’’

उन्होंने एक ‘खेल चैनल’ पर कहा, ‘‘ हम यह नहीं चाहते कि पूरा देश हसन के पीछे पड़ जाये। मैं ऐसी परिस्थिति से गुजरा हूं, वकार यूनुस इससे गुजरा है। अन्य देशों में, यह लोगों के लिए सिर्फ एक खेल है। अगले दिन आप कहते हैं कि आपने अच्छी कोशिश की, आज किस्मत ने आपका साथ नहीं दिया, अगली बार किस्मत का साथ मिलेगा।’’

वकार ने उनका समर्थन करते हुए कहा, ‘‘ कोई जानबूझकर ऐसा नहीं करता। एक पूर्व खिलाड़ी के रूप में मैं इसे समझ सकता हू। मैंने भी बुरा समय देखा है। जब आपका दिन खराब होता है तो गेंदबाजी अच्छी नहीं होती, कैच छूटते है। मुझे याद है कि 1996 विश्व कप क्वार्टर फाइनल के बाद लोगों ने मेरी कैसे आलोचना की थी लेकिन मुझे लगता है कि हमें यह समझने की जरूरत है कि यह एक खेल है।’’

हसन ने वेड का कैच उस समय छोड़ जब ऑस्ट्रेलिया को 10 गेंद में जीत के लिए 20 रनों की जरूरत थी। वेड ने 19वें ओवर की इस तीसरी गेंद पर दो रन लेने के बाद लगातार तीन छक्के लगाकर टीम को जीत दिला दी।हसन ने गेंद भी प्रभावित करने में नाकाम रहे। उन्होंने चार ओवर में 44 रन लुटाये।

पूर्व विकेटकीपर लतीफ ने कहा, ‘‘ सोशल मीडिया पर तीखी आलोचना और ट्रोलिंग से ये खिलाड़ी मानसिक रूप से आहत हो सकते हैं। मैं आपको बता सकता हूं कि इतना बड़ा मैच हारने के बाद पूरी पाकिस्तान टीम निराश होगी।’’

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज वहाब रियाज ने कहा कि दुबई स्टेडियम में रोशनी में कैच करना हमेशा कठिन होता है।उन्होंने कहा, ‘‘ कोई जानबूझ कर कैच नहीं छोड़ता है। मुझे लगता है कि मनोबल बनाये रखने और आगे बढ़ने की जरूरत है। उसके लिये यह बहुत अच्छा विश्व कप नहीं था और उसका आत्मविश्वास डगमगाया हुआ है।’’ (भाषा)



और भी पढ़ें :