कीवी खिलाड़ी कॉन्वे के इस हैरतअंगेज कैच पर फैंस हुए फिदा (वीडियो)

Last Updated: बुधवार, 27 अक्टूबर 2021 (19:30 IST)
बनाम के मैच में रोमांच तब आ गया जब इश सोढ़ी की गेंद पर कॉन्वे ने डाइव मारकर मोहम्मद हफीज का हैरतअंगेज कैच पकड़ा। इस कैच से ही न्यूजीलैंड की टीम मैच में वापस आ सकी। हालांकि नतीजा न्यूजीलैंड के पक्ष में नहीं गया लेकिन इस कैच के चर्चे सोशल मीडिया पर काफी हुए।
फैंस के अलावा कुछ क्रिकेट विशेषज्ञों ने भी इस कैच की काफी तारीफ की। पूर्व भारतीय बाएं हाथ के बल्लेबाज विनोद कांबली ने इस कैच की तुलना 1992 वनडे विश्वकप में अजय जड़ेजा के कैच से की। मशहूर सोशल मीडिया एप्प कू पर उन्होंने लिखा कि
इसके अलावा पूर्व भारतीय विकेटकीपर सबा करीम ने भी इस कैच की तारीफ की।

आसिफ अली (नाबाद 27) और शोएब मलिक (नाबाद 26) की बेहतरीन पारियों तथा उनके बीच छठे विकेट के लिए 48 रन की अविजित साझेदारी की बदौलत पाकिस्तान ने न्यूज़ीलैंड को आईसीसी के ग्रुप दो मुकाबले में मंगलवार को पांच विकेट से हराकर लगातार दूसरी जीत दर्ज की।

प्लेयर ऑफ द मैच बने हारिस राउफ (22 रन पर चार विकेट) की शानदार गेंदबाजी की मदद से पाकिस्तान ने न्यूज़ीलैंड को आठ विकेट पर 134 रन के मामूली स्कोर पर रोका लेकिन लक्ष्य का पीछा करते हुए अपने पांच विकेट 87 रन पर गंवा दिए थे लेकिन आसिफ और मलिक ने छठे विकेट की अविजित साझेदारी में 48 रन जोड़कर पाकिस्तान को लगातार दूसरी जीत दिला दी।


पाकिस्तान ने 18.4 ओवर में पांच विकेट पर 135 रन बनाकर शानदार जीत अपने नाम की। आसिफ ने 12 गेंदों पर नाबाद 27 रन में एक चौका और तीन छक्के लगाए जबकि अनुभवी मलिक ने 20 गेंदों पर नाबाद 26 रन में दो चौके और एक छक्का लगाया।

न्यूज़ीलैंड को मामूली स्कोर बनाने के बावजूद उस समय जीत की उम्मीद नजर आने लगी थी जब उसने अपने पांच विकेट 14.5 ओवर में 87 रन तक गंवा दिए थे लेकिन इसके बाद मलिक और आसिफ ने कमाल की साझेदारी की। इन दोनों बल्लेबाजों ने मैच को न्यूज़ीलैंड के हाथों से छीन लिया।


आसिफ ने साउदी के पारी के 17वें ओवर में लगातार दो छक्के मारकर टीम पर से दबाव हटा दिया। मलिक ने 18वें ओवर में मिशेल सेंटनर की गेंदों पर चौका और छक्का उड़ाकर पाकिस्तान को जीत के करीब ला दिया। आसिफ ने 19वें ओवर में ट्रेंट बोल्ट पर छक्का उड़ाया और फिर दो रन लेकर मैच समाप्त कर दिया।

सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान ने 34 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से 33 रन की पारी खेली। कप्तान बाबर आजम नौ, फखर जमान 11,मोहम्मद हफीज 11 और इमाद वसीम 11 रन बनाकर आउट हुए लेकिन इसके बाद मलिक और आसिफ ने कमाल की बल्लेबाजी की और टीम को आठ गेंद शेष रहते जीत दिला दी।


इससे पहले राउफ ने मार्टिन गुप्तिल, डेवोन कॉन्वे, ग्लेन फिलिप्स और मिशेल सेंटनेर को पवेलियन भेजा। गुप्तिल ने 17, कॉन्वे ने 27, फिलिप्स ने 13 और सेंटनर ने छह रन बनाये। पिछले मैच में तीन विकेट लेकर भारत को झकझोरने वाले शाहीन आफरीदी ने इस बार 21 रन पर एक विकेट लिया। इमाद वसीम और मोहम्मद हफीज ने भी एक-एक विकेट लिया।

न्यूज़ीलैंड की पारी में कोई भी बल्लेबाज बड़ा स्कोर नहीं बना सका। गुप्तिल ने 20 गेंदों में तीन चौके, डेरिल मिशेल ने 20 गेंदों पर एक चौके और दो छक्कों की मदद से 27 रन,कप्तान केन विलियम्सन ने 26 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 25 रन, कॉन्वे ने 24 गेंदों में तीन चौकों के सहारे 27 रन और फिलिप्स ने 15 गेंदों में एक चौके के सहारे 13 रन बनाये। विलियम्सन को हसन अली ने 14वें ओवर की पहली गेंद पर रन आउट किया जिसके बाद कीवी पारी लड़खड़ा गयी और 134 तक ही पहुंच सकी।



और भी पढ़ें :